राष्ट्रीय

Aryan Khan Drugs Case : 25 करोड़ में केस डील करने का आरोपी किरण गोसावी कौन है, जानें पूरा मामला

Janjwar Desk
28 Oct 2021 6:31 AM GMT
Aryan Khan Drugs Case : 25 करोड़ में केस डील करने का आरोपी किरण गोसावी कौन है, जानें पूरा मामला
x

आर्यन खान ड्रग्स केस डील का आरोपी किरण गोसावी। 

Aryan Khan Drugs Case : गिरफ्तारी के बाद से सवाल यह उठा रहा है कि गोसावी 26 दिन तक गायब क्यों रहा, उसने अपना हुलिया क्यों बदला और ड्रग्स केस डील के आरोपों के बारे में उससे पूछताछ कब होगी?

Aryan Khan Drugs Case : मुंबई क्रूज शिप ड्रग्स केस में डील का मामला सामने आने के बाद से फरार एनसीबी ( NCB ) गवाह किरण गोसावी ( Kiran Gosavi ) को आज पुणे पुलिस ने धोखधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के बाद से सवाल यह उठा रहा है कि गोसावी 26 दिन तक गायब क्यों रहा, उसने अपना हुलिया क्यों बदला और ड्रग्स केस ( Drugs Case ) डील के आरोपों के बारे में उससे पूछताछ कब होगी? इसके साथ ही सवाल ये भी उठाए जा रहे हैं कि ड्रग्स केस में अहम गोसावी कौन है?

ये है केपी गोसावी के बारे में सबकुछ

दरअसल, केपी गोसावी ( Kiran Gosavi ) क्रूज जहाज पर छापेमारी और ड्रग्स की कथित बरामदगी में एनसीबी के नौ स्वतंत्र गवाहों में से एक है, जिसमें बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान ( Aryan Khan ) को इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था। क्रूज रेव पार्टी से आर्यन के गिरफ्तार होने के बाद गोसावी ने उसके साथ एक फोटो क्लिक कर सोशल मीडिया पर शेयर की, जो वायरल हो गई। तब से आर्यन खान मामले में एनसीबी के स्वतंत्र गवाह होने का दावा करने वाले गोसावी चर्चा में हैं। उसका एक्सपोर्ट—इम्पोर्ट का कारोबार भी है। माना जा रहा है कि वह महाराष्ट्र सरकार में शामिल कुछ मंत्रियों और बीजेपी नेताओं का करीबी है। हालांकि, उसे इस बात का अफसोस है कि एक मराठी होने के बावजूद कोई व्यक्ति उनका साथ नहीं दे रहा है। उसने अपने बयान में कहा भी है कि कम से कम एक मंत्री या बीजेपी नेताओं को पक्ष में बोलना चाहिए।

Also Read : Aryan Khan Drugs Case में अहम गवाह किरण गोसावी गिरफ्तार, खुलेंगे गहरे राज!

Gosavi पर है 25 करोड़ में केस डील का आरोप

किरण गोसावी के पूर्व सहयोगी प्रभाकर सेल ने दावा किया है कि उन्हें आर्यन खान मामले में गवाह बनाया गया था। समीर वानखेड़े ने उन्हें कोरे कागज पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा था। गोसावी और एक अन्य व्यक्ति के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत का हवाला देते हुए सेल ने कहा कि आर्यन की रिहाई के बदले गोसावी ने 25 करोड़ का बम फोड़ा था। सेल ने आरोप लगाया था कि इस राशि में से समीर वानखेड़े को 8 करोड़ देने का सौदा तय हुआ था।

गोसावी का दावा

केपी गोसावी ने दावा किया है कि एनसीबी स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सेल और मेरी कॉल डिटेल सीडीआर जारी करे। सीडीआर से प्रभाकर के सारे आरोप झूठे साबित होंगे।

Also Read : Captain vs Sidhu : पीपीसी अध्यक्ष सिद्धू का विवादित बयान - राजनीति के 'जयचंद' हैं अमरिंदर सिंह, जानिए और क्या कहा?

गिरफ्तारी के बाद क्या बोला केपी गोसावी

पुणे पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद गोसावी ने कहा, कम से कम एक मंत्री या महाराष्ट्र से विपक्ष का कोई भी नेता मेरे साथ खड़ा होना चाहिए। कम से कम उन्हें मुंबई पुलिस से अनुरोध करना चाहिए कि मैं क्या मांग कर रहा हूं (प्रभाकर सेल की सीडीआर और चैट जारी करने के लिए)। एक बार उनकी रिपोर्ट आने के बाद सब कुछ साफ हो जाएगा।

ये पूरा मामला

2 अक्टूबर, 2021 की रात मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर मुंबई एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के नेतृत्व में एक टीम ने छापेमारी कर आर्यन खान ( Aryan khan ) सहित 8 लोगों को हिरासत में लिया था। इस मामले में आर्यन को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था। अभी तक ड्रग्स केस में 20 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इस गिरफ्तारी के आर्यन खान के साथ केपी गोसावी नाम के व्यक्ति की सेल्फी वायरल हुई थी। वह इस मामले में गवाह है, जो बाद में फरार हो गया।

गोवासी के बॉडीगार्ड के तौर पर काम करने वाले प्रभाकर सैल नाम के शख्स ने दावा किया कि उसने केपी गोसावी और सैम डिसूजा की बातचीत सुनी थी। इस बातचीत में गोसावी ने सैम से कहा था कि 25 करोड़ का बम डाल दो। आखिर में 18 करोड़ में डील फिक्स करने की बात कही। गोसावी ने सैम से कहा कि 18 करोड़ में से 8 करोड़ समीर वानखेड़े को देना पड़ेगा। प्रभाकर ने दावा किया है कि शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से यह डील फाइनल की जा रही थी। इसी डील के आरोप को लेकर एनसीबी विभागीय जांच करवा रही है।

Next Story

विविध