दिल्ली

Farmers Protest: 'किसानों ने राजा को झुका दिया" कृषि कानून वापसी पर फिल्म एक्टर प्रकाश राज का ट्वीट

Janjwar Desk
19 Nov 2021 9:41 AM GMT
Farmers Protest: किसानों ने राजा को झुका दिया कृषि कानून वापसी पर फिल्म एक्टर प्रकाश राज का ट्वीट
x

(फिल्म एक्टर प्रकाश राज का ट्वीट- किसानों ने राजा को झुका दिया)PIC COURTSEY: Social Media


Farmers Protest: फिल्म एक्टर प्रकाश राज ने पीएम नरेंद्र मोदी के इस ऐलान पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि मेरे देश के संघर्षरत किसानों ने राजा को झुकने पर मजबूर कर दिया..

Farmers Protest: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के ऐलान पर फिल्म अभिनेता प्रकाश राज ने भी प्रतिक्रिया दी। सोशल मीडिया पर बेबाकी के साथ अपनी बातों को रखने वाले अभिनेता प्रकाश राज (Prakash Raj) ने कृषि कानूनों की वापसी की पीएम की घोषणा पर ट्विट किया। प्रकाश राज ने इस ट्वीट (Prakash Raj Tweet) में किसानों के संघर्ष की तारीफ की। साथ ही सिंघम फेम एक्टर ने किसान आंदोलन के समर्थन में खुद पढ़ी गई एक कविता का भी वीडियो शेयर किया है।

प्रकाश राज ने पीएम नरेंद्र मोदी के इस ऐलान पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि, "मेरे देश के संघर्षरत किसानों ने राजा को झुकने के लिए मजबूर कर दिया। अनिता नायर की एक कविता मैंने पढ़ी थी जो कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के पक्ष में थी। इस तरह प्रकाश राज की इंग्लिश में पढ़ी गई इस कविता के शब्द भी काफी गहरे हैं।" प्रकाश राज का ट्वीट खूब पढ़ा जा रहा है। इस पर जमकर रिएक्शन भी आ रहे हैं।

प्रकाश राज ने वीर दास को सराहा

फिल्म अभिनेता प्रकाश राज बॉलीवुड (Bollywood Actor) में आने से पहले दक्षिण फिल्मों (South Movies) के जाने मानें नाम हैं। उन्हें फिल्मों में खलनायक के रोल में खूब सराहा जाता है। सोशल मीडिया पर भी वे खासे एक्टिव रहते हैं। बेबाक अंदाज के कारण वे राजनैतिक मुद्दों पर बोलने से भी पीछे नहीं रहते। हाल ही में फिल्म अभिनेता और हास्य कलाकार वीर दास की कविता पर उठे विवाद को लेकर भी प्रकाश राज ने अपनी राय रखी। वीर दास के कविता की सराहना करते हुए प्रकाश राज ने ट्विटर पर लिखा, "प्रकाश डालते रहो...प्रिय वीर दास...तुम पर गर्व है।"


बता दें कि आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में तीन कृषि कानून को वापस लेने का ऐलान करते हुए माफी मांगी और कहा कि वे किसानों का हित चाहते थे पर कुछ किसानों को नहीं मना सके। पीएम मोदी ने कहा कि, "कानून लाने के पीछे हमारी मंशा नेक थी। हम किसानों को बार-बार समझाते रहे। कानून को जिन प्रवधानों पर किसानों को ऐतराज था, सरकार उन्हें बदलने को भी तैयार हो गई।" मोदी ने कहा कि "लाख कोशिशों के बावजूद कुछ किसान नहीं मानें। इसलिए गुरुनानक देव जी के प्रकाश पर्व पर मैं बताने आया हूं कि हमारी सरकार ने कृषि कानूनों को वापस लेने निर्णय लिया है।"


Next Story

विविध

Share it