राष्ट्रीय

PM Modi Security Leak: लाउड स्पीकर से बुलाई गई प्रदर्शनकारियों की भीड़, चाय की चुस्कियां लेते पंजाब पुलिस का वीडियो वायरल

Janjwar Desk
5 Jan 2022 4:52 PM GMT
PM Modi Security Leak: लाउड स्पीकर से बुलाई गई प्रदर्शनकारियों की भीड़, चाय की चुस्कियां लेते पंजाब पुलिस का वीडियो वायरल
x

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में सेंध


PM Modi Security Leak: पीएम का रास्ता रोके प्रदर्शकारियों के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। पीएम के रूट पर तैनात पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों के साथ चाय की चुस्कियां लेते दिख रहे हैं...

PM Modi Security Leak: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज पंजाब के फिरोजपुर (PM Ferozpur Rally) में रैली करने वाले थे। मगर इस दौरान उनकी सुरक्षा में भारी चूक (PM Security Lapse) हुई, जिसके कारण उन्हें बीच रास्ते से ही अपनी यात्रा स्थगित कर वापस दिल्ली लौटना पड़ गया। फिरोजपुर जिले के पियारियाना गांव में बुधवार को पीएम मोदी के काफिले को रोकने की जिम्मेदारी भारतीय किसान संघ (क्रांतिकारी) के सदस्यों ने ली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के विरोध में किसानों के एक समूह ने पियारेना गांव के पास फ्लाईओवर को जाम कर दिया था। करीब आधे घंटे तक फ्लाईअवर पर फंसे रहने के बाद पीएम का काफिला बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ लौट गए।

किसानों ने रोका प्रधानमंत्री का रास्ता

बीकेयू (क्रांतिकारी) के महासचिव बलदेव जीरा ने दावा किया है कि किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) को सबक सिखाया है। पीएम के काफिले के पीछे हटने के बाद उन्होंने प्रदर्शनकारियों से कहा, "उसने तुहाड़े रास्ते विच किल पाए सी, आज तुहादी तकत ने मोदी नु भाजा ता नैतिकता।" सूत्रों का कहना है कि पीएम का रास्ता रोके प्रदर्शनकारी हरे और लाल झंडे लिए हुए थे, जो कि बीकेयू क्रांतिकारी के झंडे हैं। बीकेयू क्रांतिकारी को अति वामपंथी किसान संघ माना जाता है।

लाउडस्पीकर से बुलाई गई भीड़

वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के फिरोजपुर पहुंचने का रूट लीक किए जाने की पुष्टि हुई है। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि उन्हे पीएम के आने का रास्ता पहले ही पता चल चुका था। इसके बाद उन्होंने बगल के गांव प्यारेआणा में लाउड स्पीकर से अनाउंसमेंट कर भीड़ इकट्‌ठी की और पूरी रोड जाम कर दी। तब तक कई किसान संगठन भी वहां पहुंच चुके थे। पहले वह रैली में जा रहे भाजपा वर्करों की बसों को रोक रहे थे। पीएम मोदी के रूट पर प्रदर्शन करने वालों ने कहा कि हमने पुल जाम कर रखा था। हमें जैसे ही जानकारी मिली कि प्रधानमंत्री बठिंडा रोड से मोगा हाइवे पर इस रूट से आ रहे हैं तो हमने तुरंत नजदीकी गांव प्यारेआणा के स्पीकरों से आवाज दी कि पीएम यहां से आ रहे हैं। इसके अलावा सबको मैसेज भेजकर बुलाया गया। जिसके बाद हमने ट्रॉली लगाकर फ्लाई ओवर को पूरी तरह जाम कर दिया। इसके बाद पीएम मोदी को वहां से वापस लौटना पड़ा।

ड्यूटी के नाम पर पंजाब पुलिस की खानापूर्ति

वहीं, इस पूरी घटना में पंजाब पुलिस (Punjab Police) की कार्रवाई भी सवालों के घेरे में हैं। पीएम का रास्ता रोके प्रदर्शकारियों के कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। उन्हीं वीडियो में से एक में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि कैसे पीएम के रूट पर तैनात पुलिसकर्मी भीड़ को हटाने के बजाय प्रदर्शनकारियों के साथ चाय की चुस्कियां ले रहे हैं। पीएम का रूट क्लियर (PM Modi Route Leak) करवाने के बजाय पंजाब पुलिस के अफसर और जवान ड्यूटी के नाम पर महज खानापूर्ति कर रहे थे। इससे पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस की नीयत पर सवाल खड़े हो गए हैं।

गृह मंत्रायल ने मांगी रिपोर्ट

वहीं इस घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministery) ने पंजाब सरकार से प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब यात्रा के दौरान गंभीर सुरक्षा खामी के बाद उनके काफिले ने लौटने का फैसला किया। गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरे में सुरक्षा प्रक्रिया में इस तरह की लापरवाही पूरी तरह से अस्वीकार्य है और इसकी जवाबदेही तय की जाएगी।

कांग्रेस ने कहा- अंगूर खट्टे हैं

इधर, पंजाब में कांग्रेस सरकार (Punjab Congress) की जवाबदेही के बीच देश के प्रधानमंत्री के साथ हुई इस घटना को लेकर भाजपा हमलावर हो गया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani on PM Rally) ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि "कांग्रेस को मोदी से नफरत है, लेकिन वे देश के पीएम से नफरत न करें।" स्मृति ईरानी ने कहा, "पीएम मोदी को ध्वस्त करना है तो चुनाव में करिए। लेकिन अगर उनके खिलाफ इस तरह की साजिश रचते हैं, तो इसे देश बर्दाश्त नहीं करेगा"

वहीं, भाजपा द्वारा लगाए जा रहे आरोपों का जवाब देते हुए कांग्रेस ने कहा कि पीएम की सुरक्षा (PM Modi Security Lapse) में किसी तरह की कोई चूक नहीं हुई है। कांग्रेस का कहना है कि, "बीजेपी Blame Game खेल रही है। अंगूर खट्टे हैं वाली बात है। रैली में 70,000 कुर्सियों पर केवल 700 की भीड़ देख प्रधानमंत्री ने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया"

बुधवार को पीएम के पंजाब यात्रा के दौरान हुई घटना को लेकर मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Punjab CM Channi) ने भी अपनी बात रखी। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई। पंजाब के सीएम चन्नी ने कहा कि पीएम पर कोई हमला नहीं हुआ और न हीं उनकी सुरक्षा में कोई चूक हुई है। चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि "हमारी जिम्मेदारी है कि हम प्रधानमंत्री का सम्मान करें। मैं खुद उन्हें रिसीव करने जाना चाहता था। वहीं, प्रदर्शकारियों पर कार्रवाई को लेकर सीएम ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर मैं लाठी-गोली नहीं चला सकता।"

Next Story

विविध