राष्ट्रीय

Punjab Elections 2022: चन्नी और अब भाजपा ने कहा-पंजाब में वैलेंटाइन डे पर न हो चुनाव क्योंकि उस दिन है रविदास जयंती

Janjwar Desk
16 Jan 2022 3:18 PM GMT
Punjab Elections 2022: चन्नी और अब भाजपा ने कहा-पंजाब में वैलेंटाइन डे पर न हो चुनाव क्योंकि उस दिन है रविदास जयंती
x

यूपी की 55 और गोवा की 40 सीटों पर वोटिंग शुरू।

Punjab Elections 2022:

Punjab Elections 2022: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (CM Charanjit Singh Channi) ने चुनाव आयोग से चुनाव की निर्धारित तारीख 14 फरवरी को आगे बढ़ाने की अपील की, जिसके बाद अब पंजाब बीजेपी (BJP) ने भी आयोग से वोटिंग की डेट आगे बढ़ाने का आग्रह किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की तरह प्रदेश में भाजपा के राज्य महासचिव सुभाष शर्मा (Subhash Sharma BJP) ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखी हैं, और वेलेंटाइन डे के दिन वोटिंग न कराने को कहा है। दरअसल, चुनाव की तारीख को आगे बढ़ाने की अपील के पीछे असली वजह वेलेंटाइन डे नहीं बल्कि श्री गुरु रविदास जयंती है। 16 फरवरी को श्री गुरु रविदास की जयंती के मौके पर पंजाब (Punjab Election) में दलित समुदाय के काफी लोग वाराणसी और अन्य तीर्थ स्थलों पर गुरुपर्व मनाने के लिए जाते हैं। ऐसे में वे मतदान से वंचित हो सकते हैं। इसलिए, सीएम चन्नी के बाद भाजपा ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखकर चुनाव की तारीख बदलने पर विचार करने को कहा है।

सीएम के बाद भाजपा ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र

बता दें कि 14 फरवरी यानि वेलेंटाइन डे (Valentine Day) के दिन पंजाब में मतदान (Election in Punjab) होने हैं। मगर, 16 फरवरी को श्री गुरु रविदास की जयंती है। पंजाब में गुरु रविदास (Sri Guru Ravidas Jayanti) के अनुयायियों की संख्या काफी बड़ी है, जिसमें राज्य की अनुसूचित जाति के लोग भी शामिल है, जिनकी आबादी तकरीबन 32 फीसदी है। इस पावन दिन के मौके पर पंजाब से लाखों श्रद्धालु उनके निवास स्थान वाराणसी जाते हैं। मगर, इस बार 14 फरवरी को पंजाब में वोटिंग (Voting Date in Punjab) होनी है, जिसकी वजह से एक बड़ी आबादी वोट देने से वंचित रह जाएगी। यही कारण है कि पंजाब के सीएम चन्नी के बाद अब भाजपा भी चुनाव निर्वाचन आयोग से मतदान की तिथि आगे बढ़ाने की अपील कर रही है।

पंजाब के 117 सीटों पर होंगे चुनाव

मुख्यमंत्री चन्नी (Punjab CM Charanjeet Singh Channi) ने बीते दिन शनिवार 15 जनवरी को चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर राज्य में चुनाव की तारीख आगे बढ़ाने का आग्रह किया था। पंजाब की सभी 117 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान होना है और चुनाव के नतीजे 10 मार्च को घोषित होंगे। अपने पत्र में सीएम चन्नी ने आयोग से 16 फरवरी को श्री गुरु रविदास जयंती (Ravidas Jayanti) के कारण चुनाव को 6 दिन आगे बढ़ाने की मांग की थी। उन्होंने आयोग को लिखे पत्र में लिखा कि अनुसूचित जाति (SC) समुदाय के लोगों ने उन्हें बताया कि रविदास जयंती को लेकर बड़ी संख्या में एससी श्रद्धालु 10 से 16 फरवरी तक उत्तर प्रदेश के बनारस का दौरा करेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में इस समुदाय के कई लोग चुनाव में मतदान नहीं कर पाएंगे।

20 लाख वोट हो सकते हैं प्रभावित

सीएम (Punjab CM) ने अपने पत्र में लिखा कि, 'राज्य में अनुसूचित जाति समुदाय की आबादी करीब 32 फीसदी है। एससी समुदाय नेअनुरोध किया है कि वोटिंग डेट को इस तरह से बढ़ा दिया जाए, ताकि वे 10 से 16 फरवरी के बीच बनारस का दौरा कर सकें और विधानसभा चुनाव में भी भाग ला सकें।' चरणजीत सिंह चन्नी ने चुनाव आयोग से कहा कि कम से कम 6 दिन के लिए विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) को आगे बढ़ाएं ताकि करीब 20 लाख लोग अपने वोट के अधिकार का इस्तेमाल कर पाएं।

Next Story

विविध