राष्ट्रीय

Aryan Khan Drug Case : नबाब मलिक के आरोपों पर NCB का पलटवार, इतने सबूत हैं तो कोर्ट क्यों नहीं जाते

Janjwar Desk
7 Nov 2021 12:55 PM GMT
Aryan Khan Drug Case : नबाब मलिक के आरोपों पर NCB का पलटवार, इतने सबूत हैं तो कोर्ट क्यों नहीं जाते
x

(नबाब मलिक के आरोपों पर एनसीबी ने पलटवार किया है)

Aryan Khan Drug Case : आर्यन खान ड्रग मामले में नवाब मलिक द्वारा समीर वानखेड़े पर लगाए जा रहे आरोपों के बीच एनसीबी ने जबाब देते हुए पलटवार किया है।

Aryan Khan Drug Case : आर्यन खान ड्रग मामले (Aryan Khan Drug Case) में नवाब मलिक द्वारा समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर लगाए जा रहे आरोपों के बीच एनसीबी ने जबाब देते हुए पलटवार किया है। एनसीबी अधिकारियों का कहना है अगर उनके पास इतने सबूत हैं तो वह कोर्ट क्यों नहीं चले जाते।

एनसीबी अधिकारियों (NCB Officials) का यह बयान तब सामने आया है जब नवाब मलिक (Navab Mallik) ने आज रविवार, 7 नवंबर 2021 को समीर वानखेड़े पर आरोप लगाया कि वे दुबई व मालदीव में थे और उन्होंने भाजपा नेता मोहित कंबोज से बात की थी।

नवाब मलिक की ओर से एनसीबी जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के बीते साल दुबई और मालदीव में होने और फिर बीजेपी नेता मोहित कंबोज (Mohit Kamboj) से सांठगांध के दावों के बाद ही एनसीबी ने यह पलटवार किया है। एनसीबी ने नवाब मलिक से इन दोनों आरोपों को साबित करने के लिए सबूत मांगे हैं।

बता दें कि रविवार को एनसीपी नेता नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह आरोप लगाया था कि वानखेड़े शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान को किडनैप करने के लिए रची साजिश का हिस्सा थे। इस पर एनसीबी ने कहा कि आरोप लगाने की बजाय मलिक कोर्ट का दरवाजा क्यों नहीं खटखटा रहे हैं।

एनसीबी अधिकारियों का कहना है कि जिस डिसूजा और वीवी सिंह के बीच फोन पर बातचीत का ऑडियो नवाब मलिक ने जारी किया है, उसमें कुछ भी गलत नहीं है। अधिकारी डिसूजा को फोन न बदलने की चेतावनी दे रहे थे। उन्होंने कहा कि समीर वानखेड़े डिसूजा के संपर्क में नहीं थे।

मलिक ने आरोप लगाया कि असल में यह केस 'किडनैपिंग और फिरौती' का था। मलिक ने कहा कि आर्यन खान ने क्रूज पार्टी की टिकट नहीं खरीदी, बल्कि प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला वे लोग थे जो आर्यन को क्रूज पर ले गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एनसीबी अधिकारियों ने मलिक के ताजा आरोपों पर प्रतिक्रिया दी और कहा है कि वे आरोप लगाने की बजाय कोर्ट क्यों नहीं जा रहे हैं। एनसीबी अधिकारियों ने यह भी कहा कि वानेखेड़े और सैम डिसूजा एक-दूसरे के संपर्क में नहीं थे।

सैम डिसूजा का नाम मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में आया था, जिसके तहत ही शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी हुई थी। सैम और वीवी सिंह के बीच बातचीत के ऑडियो पर एनसीबी सूत्रों ने कहा कि इसमें कुछ गलत नहीं क्योंकि अधिकारी सैम को उसका फोन नंबर इतनी जल्दी न बदलने को कह रहे थे।

खुद को किरण गोसावी का बॉडीगार्ड बताने वाला प्रभाकर साइल मुंबई ड्रग्स केस में स्वतंत्र गवाह बना और साइल ने अपने हलफनामे में सैम डिसूजा का जिक्र किया था।

साइल ने कहा था कि उसने डिसूजा और गोसावी के बीच आर्यन खान को छोड़ने के एवज में 25 करोड़ रुपये के लेन-देन की बात सुनी थी। साइल ने यह भी दावा किया कि इसमें से 8 करोड़ रुपये समीर वानखेड़े को मिलने थे।

Next Story

विविध