Top
राष्ट्रीय

TRP SCAM : रेटिंग में गड़बड़ी करने के लिए अर्णब गोस्वामी ने BARC के पूर्व CEO को दी रिश्वत

Janjwar Desk
29 Dec 2020 2:37 AM GMT
TRP SCAM : रेटिंग में गड़बड़ी करने के लिए अर्णब गोस्वामी ने BARC के पूर्व CEO  को दी रिश्वत
x
अर्णब गोस्वामी द्वारा किए गए टीआरपी स्कैम में अब मुंबई पुलिस ने एक नया खुलासा किया है कि वह बार्क के अधिकारियों को भी रिश्वत देकर चैनलों के बारे में गोपनीय जानकारी जुटा कर गड़बड़ी करते थे...

जनज्वार। टेलीविजन न्यूज चैनलों की रेटिंग बढाने के लिए फर्जी आंकड़े जुटाने में एक नया खुलासा हुआ है। मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की ओर से जारी एक रिमांड नोट में यह उल्लेख है कि पुलिस जांच में यह पाया गया कि रेटिंग में गड़बड़ी करने के लिए अर्णब गोस्वामी (Arnab Goswami) ने बार्क (BARC) के पूर्व सीइओ पार्थाे दासगुप्ता (Partho Dasgupta) को लाखों रुपये दिए थे। इसके बदले रिपब्लिक भारत और रिपब्लिक टीवी की टीआरपी बढायी गयी थी।

पुलिस ने यह भी आरोप लगाया है कि पार्थाे दासगुप्ता (Partho Dasgupta) और बार्क के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी पूर्व सीओओ रोमिल रामगढिया कुछ चैनलों के गुप्त और गोपनीय जानकारियां प्रदान करते थे, जिससे रिपब्लिक टीवी और रिपब्लिक भारत दोनों चैनलों की रेटिंग बढायी जा सके।

रिपोर्ट के मुताबिक, पार्थाे दासगुप्ता ने अपने पद का दुरुपयोग कर टीआरपी में फेरबदल किया। पार्थाे दासगुप्ता जून 2013 से नवंबर 2019 तक बार्क के सीइओ थे और उन्हें रिश्वत में लाखों रुपये मिले जिससे उन्होंने गहने और गड़ी खरीदी।

पुलिस इस मामले में और विस्तृत जानकारी जुट रही है ताकि आरोपियों के खिलाफ केस को अधिक मजबूत बनाया जा सके। मालूम हो कि कुछ महीने पूर्व मुंबई पुलिस ने यह खुलासा किया था कि अर्णब गोस्वामी की अगुवाई वाला न्यूज चैनल रिपब्लिक भारत व रिपब्लिक टीवी सहित महाराष्ट्र के दो स्थानीय चैनल टीआरपी स्कैम में शामिल हैं।

अधिक दर्शकों के आधार पर अधिक विज्ञापन दर हासिल करने के लिए टीआरपी रेटिंग करने वाली मशीन में हेरफेर कर चैनल विशेष की रेटिंग को बढा कर दिखाया जाता है।

Next Story

विविध

Share it