Top
दुनिया

पाकिस्तानः लॉकडाउन में छूट के बाद बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, पिछले 24 घटों में 23 मौत

Janjwar Team
17 April 2020 10:26 AM GMT
पाकिस्तानः लॉकडाउन में छूट के बाद बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, पिछले 24 घटों में 23 मौत

विशेषज्ञों को डर है कि लॉकडाउन में दी गई छूट के कारण कोरोना के मामलों की संख्या में और वृद्धि होगी, विशेष रूप से रमजान के महीने के दौरान इफ्तार व सेहरी के लिए जुटने वाली भीड़ घातक वायरस के फैलने का मुख्य कारण बन सकती है...

इस्लामाबादः पाकिस्तान सरकार द्वारा लॉकडाउन में ढील देने की घोषणा के कुछ दिनों बाद ही कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखने को मिली है।

न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक पाकिस्तान में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 627 नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 23 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। पाकिस्तान में अब कोरोना के कुल 7027 मामले हो गए हैं, वहीं इस घातक वायरस की चपेट में आकर 134 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- PAK सुप्रीम कोर्ट ने स्वास्थ्य मंत्री को हटाया, कहा- CORONA से निपटने में इमरान कैबिनेट रही बेअसर

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, विशेषज्ञों को डर है कि लॉकडाउन में दी गई छूट के कारण कोरोना के मामलों की संख्या में और वृद्धि होगी, विशेष रूप से रमजान के महीने के दौरान इफ्तार व सेहरी के लिए जुटने वाली भीड़ घातक वायरस के फैलने का मुख्य कारण बन सकती है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय (एनएचएस) के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले 24 घंटों के दौरान पहली बार 5,300 परीक्षण किए गए हैं। जबकि इससे पहले सामान्य तौर पर लगभग 2400 परीक्षण ही किए जा रहे थे।

यह भी पढ़ें- एक तिहाई पाकिस्तानियों ने कहा कोरोना वायरस है अमेरिका-इजराइल की साजिश

उन्होंने बताया कि इस अवधि के दौरान पुष्टि किए गए आधे मामले उन लोगों में पाए गए, जिन्होंने पंजाब प्रांत के रायविंड शहर में तबलीगी के कार्यक्रम में भाग लिया था।

हालांकि स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक जफर मिर्जा ने डॉन न्यूज से बात करते हुए कहा कि मामलों की संख्या को लॉकडाउन में दी गई छूट से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान में कोरोना संक्रमित मरीजों को घर पर ही रखने के सरकारी निर्देश से मचा हड़कंप, तबाही की आशंका

उन्होंने कहा, वास्तव में एकांतवास में बहुत सारे लोग थे और कभी-कभी ऐसा होता है, जब बहुत सारे परीक्षण किए जाते हैं। सात अप्रैल को इसी तरह की वृद्धि देखी गई थी, जब 24 घंटों के अंदर लगभग 700 मामले दर्ज किए गए थे।

मिर्जा ने कहा, दूसरी बात यह है कि हमने 24 घंटे में 3,000 लोगों की तुलना में 5,300 लोगों का परीक्षण किया है, जिसके कारण मामलों की संख्या भी दोगुनी हो गई है।

Next Story

विविध

Share it