Top
राजनीति

दिल्ली से घर की ओर जा रहे 8 मजदूरों को वाहन ने कुचला, 4 की मौत

Prema Negi
29 March 2020 8:42 AM GMT
दिल्ली से घर की ओर जा रहे 8 मजदूरों को वाहन ने कुचला, 4 की मौत
x

नूंह से गुजरने वाले कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर हुआ हादसा। सभी मजदूर दिल्ली से पैदल अपने गांव जाने के लिए निकले थे। चार मजदूरों की हालत गंभीर बतायी जा रही है, जबकि 4 की हो चुकी है मौत...

जनज्वार ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन के 5वें दिन है। लॉकडाउन में सबसे बड़ी समस्या प्रवासी मजदूरों को उठानी पड़ रही है। इनके पास न पैसा है, न इन्हें अपने घरों तक जाने के लिए साधन मिल रहे हैं। इसी बीच दिल्ली से घरों की ओर लौट रहे प्रवासी मजदूरों पर कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे पर एक बेकाबू गाड़ी चढ़ गयी।

8 मजदूरों को गाड़ी ने कुचल दिया, इसमें से 4 की मौत हो गयी। 4 गंभीर रूप से घायल हो गये हैं। घायलों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया हैं। जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन में बंद से मर रहे मजदूर, तेलंगाना में वैन की टक्कर से 5 मजदूर समेत 2 बच्चों की मौत

दिल्ली से सटे फरीदाबाद, पलवल, गुरुग्राम और सोनीपत में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। ज्यादातर मजदूर अपने बच्चों, परिवार के अन्य सदस्यों व कुछ सामान को सिर पर उठाकर ही निकले हुए हैं। दिल्ली से होकर गुरुग्राम के रास्ते यूपी में जा रहे हैं। वहीं पलवल के रास्ते मथुरा की तरफ बढ़ रहे हैं। सोनीपत के राई में बड़ी औद्योगिक इकाइयां होने के कारण वहां से भी मजदूर पलायन कर रहे हैं। गुरुग्राम और फरीदाबाद में बसों की व्यवस्था भी की गई थी।

ले ही सीएम मनोहर लाल ने सभी डीसी को अपने अपने जिले में प्रवासी मजदूरों के लिए रहने की व्यवस्था करने के निर्देश दिये हो, लेकिन अभी तक ज्यादातर जिलों में इस दिशा में कुछ नहीं हुआ है। अभी भी बड़ी संख्या में पैदल ही पवासी मजदूर अपने घरों की ओर जा रहे हैं। इन मजदूरों के पास खाने पीने के लिए कुछ भी नहीं है।

संबंधित खबर: LOCKDOWN: पैदल चलने से थके मज़दूर सड़क किनारे सो रहे थे, टेम्पो ने कुचला, 4 की मौत

धर गुजरात में पंजाब के कई ट्रक ड्राइवर को पुलिस ने पकड़ लिया है। इन पर आरोप है कि वह पंजाब के मजदूरों को गुजरात से ला रहे थे। लुधियाना के ट्रक चालक सतवेंद्र सिंह ने बताया कि वह और उनके साथी गुजरात से ट्रक से वापस आ रहे थे। इसी बीच रास्ते में उन्हें पंजाब के मजदूर मिल गये। वह गुजरात में काम करते थे। उन्हें पैदल देखकर उन्होंने अपने ट्रक में बिठा लिया। लेकिन कुछ दूर आगे जाने पर उन्हें पुलिस ने पकड़ लिया। वह जमानत पर आया है, इसका ट्रक अभी भी गुजरात पुलिस के कब्जे में हैं।

संबंधित खबर: केरल में कोरोना से पहली मौत, भारत में मरने वालों की संख्या पहुंची 20

म्मू के ट्रक चालक यशपाल ने बताया कि जम्मू, उधमपुर, रामनगर, श्रीनगर के करीब 700 ट्रक चालक देश के अलग अलग हिस्सों में फंसे हुए हैं। उन्होंने फोन पर जनज्वार को जानकारी दी कि फंसे हुए चालकों को घर तक आने के लिए कोई उपाय किया जाए। यशपाल ने बताया कि इस बाबत ट्रक आपरेटर ने केंद्र सरकार से भी गुहार की है, लेकिन अभी तक उनकी गुहार पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

न्होंने बताया कि क्योंकि लॉकडाउन अचानक हुआ, इस वजह से ट्रक चालकों को अपने अपने घर तक आने का वक्त नहीं मिल पाया। उन्होंने यह भी बताया कि रास्तें में फंसे हुए ट्रक चालकों की सुरक्षा और खाने-पीने की ओर भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

Next Story

विविध

Share it