Top
राजनीति

केरल में कोरोना से पहली मौत, भारत में मरने वालों की संख्या पहुंची 20

Prema Negi
28 March 2020 7:42 AM GMT
केरल में कोरोना से पहली मौत, भारत में मरने वालों की संख्या पहुंची 20
x

28 मार्च के तड़के 3 बजे तक भारत में कुल 834 मामले थे। देश में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां मरीजों की संख्या 180 पहुंच चुकी है....

जनज्वार। भारत के अन्य राज्यों से केरल बेहतर स्थिति में कोरोना से निपट रहा है, मगर आज 28 मार्च को यहां से भी एक कोरोना पीड़ित की मौत की खबर है। इसी के साथ देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 20 पहुंच गयी है।

गौरतलब है कि देश में शुक्रवार 27 मार्च को 75 नये कोरोना पीड़ित सामने आये हैं। इस आंकड़े के साथ ही देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 900 का आंकड़ा छूने वाली है। वहीं देशभर में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या केरल में कोरोना से पहली मौत के साथ ही 20 हो चुकी है। सिर्फ कल का ही आंकड़ा देखें तो कोरोना के कारण 4 मौतें हुई हैं।

भी पढ़ें : टेस्ट किट्स के अभाव में भारत में नहीं पता लग पा रहे कोरोनावायरस पीड़ितों के कुल मामले

जानकारी के मुताबिक केरल के एर्नाकुलम में कोरोना वायरस के संक्रमण से पहली मौत का मामला सामने आया है। केरल में अब तक कोरोना पीड़ितों के कुल 184 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें 8 विदेशी हैं और 11 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

संबंधित खबर : कोरोना वायरस से भारत के 80 फीसदी से ज्यादा प्रवासी मजदूरों की आजीविका पर संकट

केरल में कोरोना से पहली मौत का जो मामला सामने आया है, उसमें मरीज की उम्र 69 साल थी। कोरोना पीड़ित इस व्यक्ति को कोची मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। केरल में होने वाली पहली मौत की पुष्टि एर्नाकुलम जनपद के मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर एनके कुट्टपन ने की। जानकारी के मुताबिक मरने वाले शख्स को 22 मार्च को कोची मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। जो जानकारी सामने आ रही है, उसके मुताबिक यह शख्स दुबई से वापस लौटा था।

संबंधित खबर : लॉकडाउन से कूड़ा बीनने वाले परिवार हुए बेहाल, जब पीने का ही पानी नहीं, तो हाथ कहां से धोएं

पिछले 24 घंटे के दौरान हमारे देश में कोरोना के 149 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार शनिवार 28 मार्च के तड़के 3 बजे तक भारत में कुल 834 मामले थे। देश में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां मरीजों की संख्या 180 पहुंच चुकी है।

खबर : दंगा पीड़ितों पर दोहरी मार, कोरोना वायरस की चपेट में आया दिल्ली का दंगा प्रभावित इलाका

स बीच खबरें यह भी आ रही हैं कि भारत में व्यापक स्तर पर कोरोना की जांच नहीं की जा रही है, इसलिए इतने कम मामले सामने आ रहे हैं। अगर जांच का क्षेत्र व्यापक किया जाये तो इससे कई गुना ज्यादा मामले सामने आयेंगे।

Next Story
Share it