राजनीति

गांधी ने किया था स्वाधीनता की लड़ाई का 'ड्रामा', भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने दिया विवादित बयान

Nirmal kant
3 Feb 2020 7:17 AM GMT
गांधी ने किया था स्वाधीनता की लड़ाई का ड्रामा, भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने दिया विवादित बयान
x

भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े के बिगड़े बोल, कहा गांधी ने ब्रिटिश हुकूमत से अनुमित लेकर किया था स्वाधीनता आंदोलन, स्वाधीनता आंदोलन को बताया 'ड्रामा'...

जनज्वार। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के सांसद अनंत कुमार हेगड़े अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। इस बार उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी नहीं छोड़ा। रविवार 2 जनवरी को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महात्मा गांधी के द्वारा स्वाधीनता की लड़ाई को ड्रामा करार दिया।

हेगड़े ने कहा कि स्वाधीनता का पूरा संघर्ष ही बनावटी था और इसे ब्रिटिश साम्राज्य का समर्थन हासिल था। उस दौर के तथाकथित बड़े नेताओं ने एक बार भी पुलिस से मार नहीं खाई थी। उनका स्वाधीनता आंदोलन ड्रामा था। इन बड़े नेताओं ने अंग्रेजों की इजाजत के बाद यह ड्रामा किया। यह कोई असल लड़ाई नहीं थी, यह संघर्ष दिखावटी था।

संबंधित खबर : भाजपाई मंत्री ने बजाया बदजुबानी का नया बाजा, कहा सेकुलर वो जिनको नहीं पता अपने बाप का

href="https://janjwar.com/?s=भाजपा">भाजपा सांसद ने आगे कहा, 'जो लोग कांग्रेस का समर्थन करते हैं, वे यही कहते हैं कि भारत को आजादी भूख हड़ताल और सत्याग्रह से मिली। यह सच नहीं है। अंग्रेजों ने देश को सत्याग्रह की वजह से नहीं छोड़ा। उन्होंने हमें निराशा और हार की वजह से आजादी दी। जब मैं इतिहास पढ़ता हूं, तो मेरा खून खौलता है। ऐसे लोग हमारे देश में महात्मा बन जाते हैं।'

हीं हेगड़े के इस बयान के बाद भाजपा ने भी उनसे किनारा करना शुरू कर दिया है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि अगर यह किसी का व्यक्तिगत विचार है तो इसको पार्टी देखेगी, ये विचार भाजपा है ही नहीं, अगर उनसे ऐसी गलती हुई है तो पार्टी उसका संज्ञान लेगी।

ये पहली बार नहीं जब अनंत कुमार हेगड़े ने कोई विवादित बयान दिया हो। इससे पहले साल 2014 से 2019 तक जब वह मोदी सरकार-I में कौशल विकास मंत्री रहे। तब साल 2017 में उन्होंने कहा था कि भाजपा उस संविधान को बदल देगी जिसमें धर्मनिरपेक्ष शब्द लिखा है।

संबंधित खबर : मोदी के पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कहा, भाजपा के 40 करोड़ बचाने के लिए बनाया था फणडवीस को मुख्यमंत्री

नंत कुमार हेगड़े ने कहा था कि धर्मनिरपेक्ष वो होते हैं जिनको अपने मां—बाप के खून का पता नहीं होता। इसलिए मेरा प्रस्ताव है कि संविधान में धर्मनिरपेक्षता की प्रस्तावना को बदल दिया जाना चाहिए।

रविवार 2 जनवरी को को ही ट्वीट किया कि बेंगलुरु को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए और भारत को हिंदुत्व की राजधानी बन जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि मैं यह कहने से कभी नहीं कतराऊंगा। मुझे इसकी कोई परवाह नहीं।

Next Story

विविध