Top
दुनिया

कोरोना का कहर: अमेरिका में संक्रमित मामले 6 लाख के पार, 25 हजार से अधिक मौतें

Janjwar Team
15 April 2020 5:51 AM GMT
कोरोना का कहर: अमेरिका में संक्रमित मामले 6 लाख के पार, 25 हजार से अधिक मौतें

आंकड़ों के अनुसार, कोरोनावायरस संक्रमण से अमेरिका के सबसे प्रभावित राज्य न्यूयॉर्क स्टेट में कुल 10,834 मौतों सहित अकेले 2,02,630 मामले सामने आए हैं...

जनज्वार: अमेरिका में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या का आंकड़ा 6 लाख के पार चला गया है, जबकि महामारी के चलते अब तक 25 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएएसई) ने इस बात की जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग की ओर से जारी किए नवीनतम आंकड़ों के हवाले से कहा, "देश में स्थानीय समयानुसार मंगलवार शाम 6.50 बजे (2250जीएमटी) तक कोविड-19 से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 6,02,989 रही, जबकि महामारी के चलते 25,575 लोगों की मौत हो चुकी है।"

यह भी पढ़ें - जानें कोरोना से लड़ने में अमेरिका क्यों चूका? ट्रंप प्रशासन ने की ये बड़ी गलतियां

आंकड़ों के अनुसार, कोरोनावायरस संक्रमण से अमेरिका के सबसे प्रभावित राज्य न्यूयॉर्क स्टेट में कुल 10,834 मौतों सहित अकेले 2,02,630 मामले सामने आए हैं। इसके बाद न्यूजर्सी 68,824 मामलों सहित कुल 2,805 मौतों के साथ दूसरे स्थान पर है।

यह भी पढ़ें - एक तिहाई पाकिस्तानियों ने कहा कोरोना वायरस है अमेरिका-इजराइल की साजिश

वहीं, मैसाचुसेट्स, मिशिगन, पेंसिल्वेनिया, कैलिफोर्निया, इलिनोइस और लुइसियाना संक्रमण के 20 हजार से अधिक मामलों वाले अन्य राज्यों में शामिल हैं।

अमेरिका ने who की फंडिंग रोकी

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने घोषणा कर कहा कि उनका प्रशासन अमेरिका की ओर से विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को मिलने वाली फंडिंग को रोक रहा है।

व्हाइट हाउस की डेली ब्रिफिंग में ट्रंप ने कहा, "मैं अपने प्रशासन को फंडिंग (वित्त पोषण को) रोकने का निर्देश दे रहा हूं। कोरोनावायरस के प्रसार से गलत तरीके से निपटने और इस पूरे मामले को कवर (छिपाने) करने को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की भूमिका की समीक्षा की जा रही है।"

बीबीसी ने उनके हवाले से कहा, "डब्ल्यूएचओ अपनी बेसिक ड्यूटी (मूल कर्तव्यों) का ही पालन नहीं कर सका है और इसकी जवाबदेह तय की जानी चाहिए।"

राष्ट्रपति ट्रंप ने यह भी आरोप लगाया कि डब्ल्यूएचओ ने जान बचाने से अधिक महत्व पोलिटिकल करेक्टनेस को दिया और ऐसे वक्त में चीने के दावे को माना जब महामारी का प्रकोप सबके सामने सिर उठाए खड़ा था।

Next Story

विविध

Share it