Top
दिल्ली

दिल्ली के डॉक्टर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में आप विधायक पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप

Prema Negi
18 April 2020 6:32 AM GMT
दिल्ली के डॉक्टर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में आप विधायक पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप
x

आत्महत्या करने वाले डॉक्टर के परिजनों का आरोप आप विधायक प्रकाश जाड़वाल और उनके सहयोगी द्वारा लगातार तंग किए जाने के बाद परेशान होकर उठाया आत्महत्या जैसा कदम...

नई दिल्ली, जनज्वार। दक्षिणी जिले के दुर्गा विहार में क्लीनिक चलाने वाले एक 50 साल के डॉक्टर ने अपने घर में आत्महत्या कर ली है। डॉक्टर का नाम राजेंद्र सिंह है।

जानकारी के मुताबिक डॉ. सिंह निजी प्रैक्टिस के साथ साथ दिल्ली जल बोर्ड में पानी टैंकर भी लगाने का कारोबार करते थे। पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला मानकर पड़ताल शुरू कर दी है। घटनास्थल से पुलिस को सुसाइड नोट भी मिला है।

यह भी पढ़ें — लॉकडाउन: केजरीवाल की अपील काम ना आई, मकान मालिक ने किराया नहीं मिलने पर गरीब को घर से निकाला, पुलिस बनी मसीहा

जिला पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर के मुताबिक, शव को पंचानामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। जांच की जा रही है। घटना की वजह पता करने के लिए जांच जारी है। मामला आत्महत्या का ही है यह जानने के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

धर घटनास्थल देवली में मौजूद डॉ. राजेंद्र सिंह के परिवार वालों का दावा है कि राजेंद्र सिंह ने क्षेत्र के प्रभावशाली व्यक्ति आप विधायक प्रकाश जाड़वाल और उनके सहयोगी द्वारा लगातार तंग किए जाने के बाद परेशान होकर आत्महत्या की है। उन्होंने यह भी दावा किया कि टैंकर व्यवसाय को लेकर वह परेशान रहा करते थे।

यह भी पढ़ें : LOCKDOWN में माफिया ने एंबुलेंस के डेड-बॉडी ‘फ्रीजर’ में मुर्दे की जगह भर दीं शराब की बोतलें

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक जो सुसाइड नोट मिला जिसमें उसने देवली से आप विधायक प्रकाश जाड़वाल और उसके सहयोगी कपिल नागर पर धमकी देने का आरोप लगाया है। मृतक ने अपने मकान के छत पर रस्सी के सहारे की फांसी लगा ली। बताया जा रहा है कि आप विधायक और उसके सहयोगी की तरफ से लगातार धमकी मिलने से वो परेशान था।

रिजनों के मुतातिबक राजेंद्र ने कई सालों से दिल्ली जलबोर्ड में कॉन्ट्रेक्ट पर कई टैंकर लगा रखे थे, जिसे स्थानीय विधायक ने हटवा दिया था। राजेंद्र सिंह का आरोप है कि टैंकर लगाने के लिए उनसे मोटी रकम मांगी जा रही थी। उन्होंने ये रकम नहीं दी जिसके कारण दिल्ली जल बोर्ड से उसके टैंकरों को हटवा दिया गया। आरोप है कि आरोपियों ने उनका कुछ लाखों का बिल भी रुकवा दिया था, जिससे हताश परेशान डॉक्टर ने खुदकुशी की।

यह भी पढ़ें : कोरोना पॉजिटिव निकला पिज्जा डिलीवरी बॉय, क्वारंटीन में रखे गए दिल्ली के 72 परिवार

स सनसनीखेज आरोप को लेकर हालांकि फिलहाल जिला पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर और इलाका एसएचओ ने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है।

Next Story

विविध

Share it