समाज

खुले में शौच करने पर लगा इंजीनियर पर 5 हजार का जुर्माना

Janjwar Team
2 July 2017 6:30 PM GMT
खुले में शौच करने पर लगा इंजीनियर पर 5 हजार का जुर्माना
x

संभवत: यह देश का पहला मामला है जब खुले में शौच करने पर इतना भारी जुर्माना लगा है, वह भी एक सरकारी अफसर पर...

उत्तराखण्ड, हरिद्वार। हरिद्वार के जिला मजिस्ट्रेट ने अपने ही जिले के मंगलौर नगरपालिका परिषद के जूनियर इंजीनियर जगदीश प्रसाद पर खुले में शौच करने के अपराध में स्वच्छ भारत अभियान के तहत 5 हजार रुपए का जुर्माना ठोका है।

जिलाधिकारी दीपक रावत द्वारा जारी आदेश में बताया गया है कि 30 जून की दोपहर कलेक्ट्रेट कार्यालय रोशनाबाद, हरिद्वार के सार्वजनिक स्थल पर मंगलौर नगरपालिका परिषद के जूनियर इंजीनियर जगदीश प्रसाद खुले में शौच करते पाए गए। स्वच्छ भारत अभियान के तहत खुले में शौच करना चूंकि अपराध है, इसलिए जूनियर इंजीनियर पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

डीएम के मुताबिक यह पहल स्वच्छ भारत अभियान के तहत ली गई है, ताकि आगे से कोई सार्वजनिक स्थल पर शौच करते न दिखाई दे। इंजीनियर जगदीश प्रसाद के वेतन में से 5000 रुपए की कटौती अर्थदंड के तहत की जाएगी, जिसे राजकीय कोष में जमा किया जाएगा।

डीएम ने यह आदेश अधिशासी अभियंता समेत 13 अधिकारियों को अग्रसारित किया है।

Next Story

विविध