समाज

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़िता के साथ अब चलती कार में गैंगरेप

Prema Negi
16 Sep 2019 4:23 AM GMT
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम पीड़िता के साथ अब चलती कार में गैंगरेप
x

पहले से ही बिहार के मुजफ्फरपुर में हुए शेल्टर होम के भयावह बलात्कार कांड में काफी मानसिक-शारीरिक यंत्रणा झेल चुकी पीड़िता के साथ घर से उठाकर गैंगरेप किये जाने की घटना कानून व्यवस्था को करती है कटघरे में खड़ा...

जनज्वार। पिछले साल बिहार के बालिका शेल्टर होम बलात्कार कांड को लोग अभी तक भूले नहीं होंगे, जिसमें 34 बच्चियों के साथ बलात्कार की पुष्टि पुलिस जांच में हो चुकी है। अब उनमें से एक पीड़िता को फिर से 13 सितंबर को सामूहिक बलात्कार का शिकार बनाया गया है। पीड़िता को उसी के मोहल्ले से अगवा कर चलती गाड़ी में उसके साथ गैंगरेप किया गया। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

ह घटना तब सामने आयी है, जबकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ निर्देश जारी किये हैं कि ऐसे मामलों में पीड़ित लोगों को खासी सुरक्षा मुहैया करायी जाये। इस घटना ने सूबे की कानून व्यवस्था और सुशासन बाबू के राज को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने कहा ‘भयानक’ और ‘डरावनी’ है मुजफ्फरपुर रेप केस में सीबीआई की स्टेट्स रिपोर्ट

बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के नगर थाने में मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड की रेप पीड़ित एक बच्ची ने अपने साथ हुए सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज कराया है। पहले से ही भयावह बलात्कार का दंश झेल चुकी पीड़िता ने पुलिस के पास दर्ज करायी गई अपनी शिकायत में कहा है कि शुक्रवार 13 सितंबर की रात जब वह अपने मुहल्ले में ही थी, तभी कार सवार चार लोगों ने उसे गाड़ी के भीतर खींच लिया।

लात्कार आरोपियों ने चलती गाड़ी में उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया और फिर उसे वापस मोहल्ले के पास छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता ने बताया कि बलात्कारियों ने नकाब पहना हुआ था, मगर विरोध के दौरान पीड़िता उनका नकाब हटाने में कामयाब हो गयी। पीड़ित बच्ची के मुताबिक सभी युवक एक ही परिवार के हैं।

यह भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर बलात्कार कांड का आरोपी बृजेश ठाकुर था पत्रकारिता का सरकारी मेहमान

स मामले की जांच कर रहे पश्चिम चंपारण जिला मुख्यालय बेतिया के नगर थाना अध्यक्ष शशिभूषण ठाकुर ने मीडिया को 15 सितंबर को बताया कि पीड़िता को इलाज के लिए 14 सितंबर को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी मेडिकल जांच डॉक्टरों ने कर ली है। हालांकि बलात्कार पीड़िता की हालत गंभीर बतायी जा रही है। इसके अलावा महिला थानाध्यक्ष पूनम कुमारी ने अस्पताल पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर रेप कांड के आरोपियों को बचा रहे हैं नीतीश, नैतिक आधार पर दें इस्तीफा : तेजस्वी यादव

गौरतलब है कि पिछले साल सामने आये शेल्टर होम बलात्कार कांड में मचे बवाल के बाद राज्य सरकार ने इसकी जांच सीबीआई को सौंपी है। हालांकि इस कांड से तमाम सफेदपोशों के चेहरे बेनकाब हुए थे। नीतीश सरकार में मंत्री रहीं मंजू वर्मा के तार भी इस कांड से जुड़े हुए हैं। इसके अलावा बलात्कार कांड के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर के राजनीतिक संबंधों का भी खुलासा मीडिया में हो चुका है।

Next Story

विविध

Share it