Top
राजनीति

लॉकडाउन में गरीबों को लाठी-गोली और नेता जी के नाती की फॉर्महाउस में रंगारंग शादी

Raghib Asim
17 April 2020 1:25 PM GMT
लॉकडाउन में गरीबों को लाठी-गोली और नेता जी के नाती की फॉर्महाउस में रंगारंग शादी
x

देश में जारी लॉकडाउन में जहाँ एक तरफ भूख से बेहाल मज़दूरों को प्रशासन की लाठी मिल रही तो दूसरी तरफ संसाधनों पर आसीन नेता डंके की चोट पर लॉकडाउन का उल्लंघन कर शादी मना रहे हैं…

जनज्वार। देश में जारी लॉकडाउन में जहाँ एक तरफ भूख से बेहाल मज़दूरों को प्रसाशन की लाठी मिल रही तो दूसरी तरफ संसाधनों पर आसीन नेता डंके की चोट पर लॉकडाउन का उल्लंधन कर शादी मना रहे है। मामला कर्नाटक का है जहां पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी के बेटे निखिल गौड़ा ने रामनगर शहर के बिदादी के पास एक फार्महाउस में रेवती से शादी कर ली। शुक्रवार को एक प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी। कुमारस्वामी के मीडिया सचिव के.सी. सदानंद ने फोन पर आईएएनएस को बताया, "शादी तयशुदा समय पर (सुबह 10-11 बजे) बिदादी के पास केठागानहल्ली के फार्महाउस में हुई।"

यह भी पढ़ें- कासगंज में भाजपा नेता के रिश्तेदार ने महिला पर चलाई गोली, लोग बनाते रहे वीडियो

फार्महाउस बिदादी से 3 किलोमीटर और बेंगलुरू से 45 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में है। निखिल (28) ने 10 फरवरी को बेंगलुरू में राज्य के कांग्रेस नेता एम. कृष्णप्पा की पोती रेवती (22) से सगाई की थी। सदानंद ने कहा, "हिंदू संस्कार के अनुसार पंडितों द्वारा जोड़े की विधि-विधान से शादी कराई गई। इस समारोह में दूल्हा-दुल्हन के माता-पिता, परिवार के अन्य सदस्यों और रिश्तेदारों समेत लगभग 100 लोग शामिल हुए।"

पस्थित लोगों में निखिल के दादा, जद(एस) सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा, दादी चेनम्मा, चाचा, जिनमें पूर्व मंत्री एच.डी. रेवन्ना, चचेरे भाई और हासन से लोकसभा सदस्य प्रज्वल हेगड़े शामिल थे। सदानंद ने कहा, "शादी बिना किसी तामझाम के सादगी से हुई। वैदिक मंत्रों के बीच दादा-दादी और दंपति के माता-पिता ने वर और वधू को आशीर्वाद दिया।"

यह भी पढ़ें- घर में नहीं था एक पैसा, मजदूर महिला गई मुफ्त सरकारी राशन लेने तो डीलर ने किया दुष्कर्म

15 अप्रैल से 3 मई तक बढ़े लॉकडाउन के बीच गौड़ा पविार को विवाह स्थल बदलना पड़ा। पहले शादी बेंगलु: में दुल्हन के घर से होने वाली थी, लेकिन बेंगुलुरू में कोविड-19 के 80 से अधिक मामले आने के कारण यह हॉटस्पॉट बन चुका है। लिहाजा शादी फार्महाउस से की गई। सदानंद ने कहा, "कुमारस्वामी ने राज्य सरकार से अपने फार्महाउस पर शादी करने की अनुमति ली और बेंगलुरू से परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों को लेने के लिए कार पास की व्यवस्था की।"

हालांकि रामनगरा में अब तक एक भी कोविड -19 मामला नहीं आया है और यह ग्रीन स्पॉट है, लेकिन इस आयोजन के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी। पार्टी के सदस्यों और निखिल के प्रशंसकों को रोकने के लिए राज्य के राजमार्ग से फार्महाउस तक के 3 किलोमीटर के रास्ते को बंद कर दिया गया था।

दानंद ने कहा, "चूंकि शादी जैसे समारोह के लिए लॉकडाउन मानदंड 100 से अधिक मेहमानों को अनुमति नहीं देते हैं, इसलिए भीड़-भाड़ को रोकने के लिए कुमारस्वामी ने सभी लोगों और पार्टी के सदस्यों से भी अनुरोध किया है कि वे अपने घरों से ही इस जोड़े को आशीर्वाद दें।" निखिल की मां अनीता रामनगरा विधानसभा क्षेत्र से जद(एस) विधायक हैं। कुमारस्वामी द्वारा यह सीट खाली करने के बाद नवंबर 2018 के उपचुनाव में उन्होंने यह सीट जीती थी।

यह भी पढ़ें- आमिर खान ने जिस बबिता फोगाट को बनाया स्टार, उसने कहा- कोरोना से बड़ी समस्या ‘जाहिल जमाती’

कुमारस्वामी ने मई 2018 के विधानसभा चुनाव में चन्नपटना विधानसभा क्षेत्र से भी जीत हासिल की थी। सदानंद ने कहा, "कुमारस्वामी ने पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और रामनगरा के लोगों से वादा किया है कि वे इस दंपति के लिए एक भव्य रिसेप्शन आयोजित करेंगे और गर्मी के बाद स्थितियां सामान्य होने पर लोगों को शानदार पार्टी देंगे।"

ई 2019 के आम चुनाव में जद (एस) के उम्मीदवार के रूप में निखिल ने राजनीति में प्रवेश करने की कोशिश की थी, लेकिन उभरता हुआ यह द्विभाषी (कन्नड़ / तेलुगु) स्टार, निर्दलीय उम्मीदवार दक्षिण भारतीय अभिनेत्री सुमालता अम्बरीश से चुनाव हार गए था।

कर्नाटक में कोरोना के 38 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 353 पहुंची

र्नाटक में पिछले 19 घंटों में कोरोनावायरस के 38 नए पॉजिटिव मामले सामने आए, जो एक दिन से भी कम समय में सबसे अधिक मामले हैं। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, "अब तक 353 कोरोना पॉजिटिव मामलों की पुष्टि की गई है। इसमें 13 मौतें और 82 डिस्चार्ज शामिल हैं।"

पॉजिटिव पाए गए नए मामलों में, 31 पुरुष और सात महिलाएं हैं - जिनमें दो लड़कियां और तीन लड़के शामिल हैं। नए मामलों में से, 30 पहले के मामलों के संपर्क के हैं, जबकि बेंगलुरु की एक 64 वर्षीय महिला भी गंभीर तीव्र श्वसन संक्रमण से पीड़ित है। सभी नए मरीजों को राज्य भर के नामित अस्पतालों में उपचार के लिए भर्ती किया गया है।

Next Story

विविध

Share it