Top
आंदोलन

अभी-अभी: दिल्ली के मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में पथराव, लड़के ने तमंचे से की 8 राउंड फायरिंग, माहौल तनावपूर्ण

Raghib Asim
24 Feb 2020 10:52 AM GMT
अभी-अभी: दिल्ली के मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में पथराव, लड़के ने तमंचे से की 8 राउंड फायरिंग, माहौल तनावपूर्ण
x

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के मौजपुर के बाद भजनपुरा में भी झड़पें हुई, इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने वहां खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया.....

जनज्वार। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के मौजपुर के बाद भजनपुरा में भी झड़पें हुई। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने वहां खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। हालात बेकाबू होने पर घटनास्थल पर अर्द्धसैनिक बल को बुलाया गया है। बताते चलें कि CAA के खिलाफ दिल्ली में हो रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास भी पत्थरबाजी हुई। जानकारी के मुताबिक, रविवार की तरह की सोमवार को भी पत्थरबाजी की गई। सीएए के समर्थक और विरोधियों दोनों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। यह घटना मौजपुर मेट्रो स्टेशन के नजदीक कबीर नगर इलाके का है। यह क्षेत्र मुस्लिम बहुल बताया जा रहा हैं।

हीं उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाकों में प्रदर्शनकारियों ने कम से कम दो घरों में आग लगा दी, जिससे तनाव और बढ़ गया है। इन इलाकों में सोमवार को लगातार दूसरे दिन सीएए समर्थक और विरोधी समूहों के बीच झड़पें हुईं। प्रदर्शनकारियों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस ने समूहों को शांत कराने के भी प्रयास किए।

संबंधित खबर : मौजपुर के बाद भजनपुरा में झड़प, दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्सटेबल की मौत

धिकारियों के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने इलाके में लगी आग बुझाते समय दमकल की एक गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया। दिल्ली मेट्रो ने इलाके में तनाव के बीच जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए। जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार पिछले 24 घंटों से बंद हैं। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रविवार को सड़क अवरुद्ध कर दी थी जिसके बाद जाफराबाद में सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प शुरू हो गई थी। दिल्ली के कई अन्य इलाकों में भी ऐसे ही धरने शुरू हो गए हैं।

ता दें कि मौजपुर में भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने एक सभा बुलाई थी जिसमें उन्होंने पुलिस को अल्टीमेटम देते हुए कहा था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के जाने तक सीएए विरोधी आंदोलनकारियों को हटाया नहीं तो इसके परिणाम भुगतने होंगे। इसके तुरंत बाद दो समूहों के सदस्यों ने एक-दूसरे पर पथराव किया, जिसके चलते पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इस बीच, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने सोमवार सुबह ट्वीट कर बताया कि जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशन के एक्जिट और एंट्री गेट को बंद कर दिया गया। इन स्टेशनों पर मेट्रो नहीं रुकेगी। डीएमआरसी ने गेट खोले जाने की अब तक कोई जानकारी नहीं दी।

संबंधित खबर : गुजरात के खंभात में भड़की हिंसा में 13 जख्मी, दर्जनों दुकानों-मकानों-वाहनों को दंगाइयों ने झोंका आग में

न्‍यूज एजेंसी ANI के अनुसार, उपद्रवियों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे। जाफराबाद से सटे मौजपुर में दो समूहों ने एक-दूसरे पर पथराव किया, जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी। जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के निकट सैकड़ों सीएए-विरोधी प्रदर्शनकारियों ने सीलमपुर, मौजपुर और यमुना विहार को जोड़ने वाली सड़क को बंद कर दिया था, जिसके बाद से इलाके में तनाव है।

प्रदर्शन में एक युवक के पैर में और एक पुलिसकर्मी को गोली लग गई। इसके अलावा मीडियाकर्मियों के द्वारा वीडियो बनाए जाने पर भी उपद्रवी हमला कर रहे हैं। वहीं हिंसा पर उप राज्यपाल और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आग्रह करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था को बहाल करने के लिए आवश्यक कदम उठाए साथ ही यह सुनिश्चित करें कि दिल्ली में शांति और सद्भाव बना रहे। किसी को भी इस तरह के काम की अनुमकि नहीं मिलनी चाहिए।

हीं हिंसा के बाद मौजपुर समेत उत्तरी पूर्वी दिल्ली में धारा 144 लगा दी गई है। इसके अलावा पुलिस आसामजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कह रही है। एक महिला का ऑडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें वह कहते हुए सुनाई दे रही हैं कि मैं जौहरीपुर शिवविहार से बात कर रही हूं। हमारे इलाके में इतने ताबड़तोड़ लड़ाई-पथराव हो रहा है। एक आदमी को जान से मार दिया है और चार पांच को गोली लगी है। आरएसएस के साथ खड़े होकर पुलिसवाले इधर के इलाकों में हमला कर रहे हैं। आरएसएस के लोग पुलिस की वर्दियां पहनकर आ रखे हैं।

मामले पर मौजपुर के रहने वाल शहजाद ने जनज्वार को बताया कि मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास कुछ दंगाईयो ने हिंसा करना शुरु कर दिया। अधिकतर हमलावर कम उम्र के बच्चे थे जो अपने हाथों में पत्थर लिए हुए थे। फिलहाल पुलिस हिंसा को रोकने में जुटी हुई है।

https://www.facebook.com/janjwar/videos/3322937584386354/

मौजपुर हिंसा पर आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने सभी दिल्लीवासियों से अनुरोध करते हुए कहा कि अपनी खूबसूरत दिल्ली को हिंसा और फ़साद के जाल में न फंसने दें। ये वक़्त धैर्य व संयम का परिचय देने का है। किसी के भड़काने में न आयें हिंसा किसी समस्या का समाधान नही है। वहीं दिल्ली के शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए दिल्लीवासियों शांति की अपील की है। सिसोदिया ने कहा कि हिंसा में सबका नुकसान है। हिंसा की आग सबको ऐसा नुकसान पहुंचाती है जिसकी भरपाई कभी नहीं हो पाती।

संबंधित खबर : अलीगढ़ में CAA के विरोध में बैठी महिलाओं को हटाने पर हिंसा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, छोड़े आंसू गैस

हिंसा की घटनाओं पर दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि उत्तर पूर्व दिल्ली के जाफराबाद, यमुना विहार, करावल नगर और आसपास के इलाके में उपद्रव की घटना के मद्देनजर मैं सारे नागरिकों से संयम बरतने का अनुरोध करता हूं। किसी प्रकार की अफवाहों से बचें और दिल्ली में शांति व्यवस्था बनाए रखे।

टना को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता बसंता ने बताया कि मैने अभी कर्दमपुरी और कबीरनागर से अपने साथी कार्यकर्ता से कॉल रिसीव की। हालत वाकई बहुत खराब हैं। एक बच्ची ने उस समय अपने हाथ की तीन उंगलियों को खो दिया है जब वह आंसू गैस के शेल के उठा रही थी। हमारे सक्रिय मित्र इलाके में प्रवेश नहीं कर पा रहे हैं। हमें वहां तुरंत मीडिया से जुडे लोगों की जरुरत है। यह पुष्ट जानकारी है।

Next Story

विविध

Share it