Top
शिक्षा

जामिया में पुलिस ने जो किया वही करतूत किसी को बनाती है आतंकवादी

Nirmal kant
16 Dec 2019 6:53 AM GMT
जामिया में पुलिस ने जो किया वही करतूत किसी को बनाती है आतंकवादी
x

दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी में नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज, विपक्षी नेताओं ने दिल्ली पुलिस की भूमिका पर उठाए सवाल, कांग्रेस, भीम आर्मी, इमरान प्रतापगढ़ी आदि ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर किया प्रदर्शन...

जनज्वार। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ के प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर रविवार 15 अक्टूबर को दिल्ली पुलिस ने बर्बर लाठीचार्ज किया। साथ ही आसू गैस के गोले भी छोड़े गए। इस दौरान कई छात्र घायल हो गए। दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई का एक ओर जहां आलोचना हो रही है, वहीं दिल्ली पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं। सोशल मीडिया पर कई तरह के फोटो और वीडियो वायरल हो रहे हैं। इन फोटो वीडियो में पुलिसकर्मी कहीं वाहनों को तोड़ते हुए नजर आ रहे हैं तो कहीं खुद ही वाहनों को आग लगाते हुए नजर आ रहे हैं।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि ये फ़ोटो देखिए.. देखिए कौन लगा रहा है बसों और कारों में आग.. यह फ़ोटो सबसे बड़ा सबूत है बीजेपी की घटिया राजनीति का... इसका कुछ जवाब देंगे बीजेपी के नेता ..।

संबंधित खबर : सुप्रीम कोर्ट पहुंचा जामिया में हुई हिंसा का मामला, कल होगी सुनवाई

सिसोदिया ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि इस बात की तुरंत निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए कि बसों में आग लगने से पहले ये वर्दी वाले लोग बसों में पीले और सफ़ेद रंग वाली केन से क्या डाल रहे है.. ? और ये किसके इशारे पर किया गया? फ़ोटो में साफ़ दिख रहा है कि बीजेपी ने घटिया राजनीति करते हुए पुलिस से ये आग लगवाई है।

क वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस मीडिया के आने से पहले तैयारी कर रही है ताकि बाद में दिखाया जा सके कि देखो प्रदर्शनकारी छात्रों ने कितने वाहन तोड़ डाले...।

क दूसरे वीडियो को रिट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा, 'इस विडियो को भी देख लें... पार्किंग में खड़ी मोटरसाईकिल्स पर डंडे बरसाए जा रहे हैं.. बाद में तोड़फोड़ का इल्ज़ाम छात्रों के सर पे ही डाला जाएगा ... यही है बीजेपी की तुच्ची राजनीति...।'

म आदमी पार्टी के सांसद संजय ने कहा कि दिल्ली पुलिस की तानाशाही चरम पर है। कभी वकीलों को मारा कभी दिव्यांग़ों को मारा, कभी महिलाओं को मारा कभी बेरोज़गारों को मारा, कभी किसानो को मारा, अब छात्रों पर तो क़हर बनकर टूट पड़े हैं। इस सब के बीच गृह मंत्री गहरी नींद सो रहा है। देश का छात्र आंदोलित है देश की राजधानी अस्त व्यस्त।

घटना के खिलाफ भीम आर्मी ने भी दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सामने प्रदर्शन किया। इस दौरान भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि इन्हें लग रहा था कि जामिया में छात्र पिटेंगे तो केवल मुस्लमान आएंगे। मुस्लमान ही नहीं पूरा मुल्क आएगा।

संबंधित खबर : CAB के खिलाफ जामिया में प्रदर्शनकारियों पर पुलिसिया लाठीचार्ज, गंभीर हालत में कई छात्र

युवा शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने भी दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे। इमरान प्रतापगढ़ी ने फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'हम भागे हैं........ना हम हटे हैं, हम डटे थे......हम डटे हैं। सुबह के 3.30 बजे दिल्ली पुलिस ने जनता का दबाव स्वीकार किया और जामिया के डिटेन (हिरासत) किये गये छात्रों को छोड दिया है, ये आधी जीत है, ज़ुल्म के ख़िलाफ़ लडाई जारी रहेगी।

Next Story

विविध

Share it