Top
आंदोलन

नागरिकता संशोधन कानून CAA पर उबला पूरा देश, धरना-प्रदर्शनों, गिरफ्तारियों और पुलिसिया हिंसा का दौर जारी

Prema Negi
19 Dec 2019 9:35 AM GMT
नागरिकता संशोधन कानून CAA पर उबला पूरा देश, धरना-प्रदर्शनों, गिरफ्तारियों और पुलिसिया हिंसा का दौर जारी
x

देशभर में CAA के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों में हिस्सा ले रहे तमाम सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं और छात्रों-प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेने का दौर है जारी, यूपी में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज तो जला दिये गये पुलिस वाहन और बसें...

जनज्वार। संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में चल रहे विरोध प्रदर्शनों ने पूरे देश को आक्रोशित कर दिया है। जामिया में मचे पुलिसिया तांडव के बाद देशभर में कई हिंसक वारदातें सामने आई। मगर हिंसक वारदातों के बाद बजाय डरने के लोग इसके खिलाफ और भी डटकर खड़े हो गये हैं। विश्लेषक कहने लगे हैं कि यही हालात रहे तो संशोधित नागरिकता कानून को मोदी सरकार को वापस लेना पड़ेगा।

CAA के खिलाफ आज 19 दिसंबर को पूरी दिल्ली समेत एनसीआर भी उमड़ पड़ा है। लालकिला समेत तमाम ​इलाकों में इंटरनेट सेवायें बाधित कर जहां पुलिस ने धारा 144 लगा दी है, वहीं इतने बड़े स्तर पर प्रदर्शन के चलते दिल्ली-एनसीआर में ट्रैफिक व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सुबह से ही भीषण जाम लगा हुआ है।

नागरिकता संशोधन अधिनियम : हिरासत में लिए गये इतिहासकार रामचंद्र गुहा समेत 30 प्रदर्शनकारी, रिहाई मंच के मोहम्मद शोएब नजरबंद

दिल्ली के बहुत से इलाकों में धारा 144 लागू होने के बावजूद प्रदर्शनकारी लाल किले और मंडी हाउस में जमा हो गए। पुलिस ने बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया और अभी भी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेने का दौर चालू है। पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों को प्रदर्शन के लिए दिल्ली पुलिस की इजाजत नहीं ली थी, जबकि छात्र नेता उमर खालिद ने हिरासत में लेने के बाद जारी किये गये वीडियो में कहा कि पहले से इजाजत लेने के बावजूद लोगों को हिरासत में लिया जा रहा है। हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों में छात्र नेता उमर खालिद, सीपीआई नेता सीताराम येचुरी, योगेंद्र यादव समेत बड़ी संख्या में छात्र और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं।

हीं देश के तमाम हिस्सों में भी सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं और छात्रों-प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेने का दौर जारी है। रामचंद्र गुहा को भी पुलिस हिरासत में ले चुकी है। लखनऊ में बड़े पैमाने पर लोगों को हिरासत में लिया गया है। यहां पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किये जाने के बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी।

त्तर प्रदेश के संभल में हिंसा भड़कने के बाद प्रदर्शनकारियों ने यूपी रोडवेज की 4 बसों को आग के हवाले कर दिया। इसके अलावा संभल में प्रदर्शनकारियों ने गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की, वहीं नागरिकता संसोधन कानून को लेकर वाराणसी में विपक्ष विरोध मार्च निकाल रहा है।

संबंधित खबर : रामचंद्र गुहा – सरकार के लिए उल्टा पड़ गया जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 का दांव

दिल्ली-गुडगांव मार्ग में वाहनों की लंबी कतारें जाम के चलते नजर आ रही हैं तो दिल्ली-गुड़गांव रोड पर कई किलोमीटर का लंबा जाम लग चुका है। नोएडा के महामाया फ्लाइओवर और गुड़गांव के सरहौल टोल नाका पर लगे लंबे जाम से भी लोगों को खासा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

संबंधित खबर : नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ रिहाई मंच समेत कई संगठनों ने दिया धरना, कहा देश का विभाजन करने पर उतारु मोदी सरकार

दिल्ली यातायात पुलिस CAA पर उबल पड़े प्रदर्शनकारियों के मिजाज को देखते हुए लगातार ट्वीट कर लोगों को जाम की जानकारी दे रही है। आज धरना—प्रदर्शन शुरू होने से पहले ही दिल्ली पुलिस ने ट्वीट किया था, ‘पुलिस ने अवरोधक लगाए हैं और गुड़गांव से दिल्ली आने वाले वाहनों की जांच की जा रही है। इस कारण से उन मार्गों में यातायात प्रभावित हुआ है। रैली के कारण दिल्ली गेट से जीपीओ तक भारी ट्रैफिक है। इसके अलावा सुभाष मार्ग, पीली कोठी, श्यामा प्रसाद मुखर्जी मार्ग, लाल किला और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन मार्ग पर यातायात प्रभावित हुआ है।'

ड़कों पर हो रहे भारी धरना-प्रदर्शनों के चलते दिल्ली के 18 मेट्रो स्टेशन बंद ​किये गये हैं। दिल्ली के कुछ स्कूलों ने ​परिजनों को मैसेज भेज अपने बच्चों को ले जाने की व्यवस्था करने को कहा है।

पूरा देश ही हो गया जलियांवाला बाग, CAB के खिलाफ प्रदर्शनरत छात्रों से पुलिस निपट रही है किसी आतंकी की तरह

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया है कि ‘प्रदर्शनों के कारण आया नगर सीमा से दिल्ली की ओर और कापसहेड़ा सीमा से दिल्ली की ओर भारी यातायात है। मथुरा रोड से कालिंदी कुंज के बीच सड़क संख्या 13ए यातायात के लिए बंद है। नोएडा से दिल्ली आने वाले लोगों को डीएनडी अथवा अक्षरधाम मार्ग पकड़ने की सलाह दी जाती है।’

Next Story

विविध

Share it