Top
चुनावी पड़ताल 2019

'मोदी देशभक्ति में नंबर वन, पर काम-धंधे में जीरो'

Prema Negi
20 Oct 2019 7:18 AM GMT

मंदी से बुरी तरह तबाह हो चुके छोटे कारोबारी और दुकानकार बोले विधायक के चुनाव में एक प्रधानमंत्री का क्या काम, देश संभल नहीं रहा और चले हैं एमएलए का चुनाव निपटाने

हरियाणा के पानीपत से अजय प्रकाश की ग्राउंड रिपोर्ट

जनज्वार। हरियाणा में विधानसभा चुनाव के लिए इस बार दोबारा सत्ता में आने के लिए भाजपा ने एड़ी—चोटी का जोर लगाया हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी तक जगह-जगह चुनावी सभाओं को संबोधित कर भाजपा को राज्य में दोबारा सत्तासीन करने के लिए प्रयासरत हैं। वैसे भी भाजपा ने चुनावों से बहुत पहले से मिशन 75 पार का लक्ष्य रखा हुआ था। हालांकि ग्राउंड जीरो पर अभी भी बहुसंख्य आबादी मोदी के नाम पर भाजपा को वोट देने की बात कर रही है, मगर खट्टर सरकार से एकदम खफा है। प्रधानमंत्री मोदी समेत हरियाणा भाजपा के तमाम नेता भी मंच से बड़े-बड़े दावे करते नजर आ रहे हैं लेकिन ग्रांउड जीरो पर भाजपा की जमीन खिसकती नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें : हरियाणा में गड़बड़ाया खट्टर का 75 पार का गणित, आखिरकार आज से RSS को संभालना पड़ा मोर्चा

मोदीमय हो चुकी पानीपत की जनता जोकि मोदी की सभा से लौट रही है कह रही है कि मंदी है, रोजगार नहीं है पर मोदी जी देश के लिए बहुत काम कर रहे, इसलिए वोट खट्टर को ही जाएगा। दोबारा सरकार मोदी की बनेगी।

मोदी का विरोध भी कई जगह नजर आ रहा है। मोदी की चुनावी सभा को लेकर एक युवा गुस्से में आगबबूला होकर कहता है, विधायकी के चुनाव में मोदी का क्या काम, देश संभल नहीं रहा और चले हैं विधायकी जितवाने। मोदी जब पहली बार सत्ता में आये थे तभी राम मंदिर बनाने का वादा किया था, जो दोबारा सत्ता में आने के एक साल बाद भी पूरा नहीं हो पाया है।

पानीपत शहर में लिली अंडेवाले के नाम से प्रसिद्ध दुकान के मालिक कहते हैं, मोदी सरकार के आने के बाद से हमारा काम बहुत डाउन है। दूसरे तमाम लोग खुलेआम कह रहे हैं कि मोदी सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी लागू कर आम आदमी की जिंदगी जहन्नुम बना दी है।

यह भी पढ़ें : हरियाणा के चुनावी नतीजों को तय करेगी प्रदेश के #YOUTUBER की फौज

हीं मोदी की सभा में पहुंचे एक सोनीपत के गोहाना में रहने वाला दिहाड़ी मजदूर कहता है, 'मोदी को पहली बार पीएम बना दिया दूसरी बार बना दिया, बोला गरीबों के लिए मैं ये करूंगा, वो करूंगा, मगर सिवाय हमारी जिंदगी नरक बनाने के और कुछ ना किया। कभी आधार कार्ड बनवाओ, कभी पहचान पत्र बनवाओ, कभी कुछ और बनवाओ, हम टोकरी ढोते हैं। इन कार्डों के चक्कर में हमारी दिहाड़ी टूट रही है, वह भी एक बार जाकर नहीं बनता, चार दिन जाकर नहीं बनता, लाइन खड़ी रहती है और अफसर उठकर चला जाता है। ऐसे ही कार्डों के लिए चक्कर काटते रहे तो शाम को हमारे बच्चे क्या खायेंगे। हमारी बात मोदी तक पहुंचाओ, वो इस बात का समाधान करे।'

कहते हैं हमारी बिक्री का रेसियो तो यह है कि जो बिक्री 5 साल पहले 5 हजार की होती थी, वह अब 3 हजार पर आ गयी है। बढ़ती महंगाई और बंदी के बीच आखिर हम अपना गुजारा कहां से कर पायेंगे।

दीवाली के सीजन के बावजूद बड़ी—बड़ी दुकानें तक खाली पड़ी हैं। दुकानदार कह रहे हैं हमें मंदी ने तबाह कर दिया है। मार्केट में पैसा नहीं है इसलिए लोग खरीदारी नहीं कर पा रहे। मोदी सरकार आने के बाद मंदी की बात स्वीकारने और खाली दुकानों के बावजूद मोदीमय हो चुके लोग यह भी कहने से बाज नहीं आते कि मंदी—तेजी तो चलती रहती है, इसमें मोदी सरकार का क्या कसूर है। मोदी एक प्रक्रिया है आयेगी और जायेगी।

यह भी पढ़ें : भाजपा के घोषणापत्र में सिर्फ गोमूत्र और गोबर की घोषणा ही नई, बाकी सब पुराने वादे

क दुकानदार मोदी पर टिप्पणी करते हुए कहते हैं, देशभक्ति में तो मोदी पसंद है, मगर काम-धंधे में बिल्कुल पसंद नहीं है। इनकी नीतियों से काम धंधा मंदा है।

मोदी के सभा में पहुंची महिलाओं ने यह भी कहा कि हजारों महिलायें हो रहीं विधवा, मगर नहीं होती शराबबंदी, रोजगार की भी कोई बात नहीं करता। सिर्फ 370 और शौचालय के नाम पर तो देश नहीं चलता ना।

यह भी पढ़ें : कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ से किसान नाराज, बोले खट्टर के 75 पार का पहला रोड़ा तो धनखड़ सै…

मोदी की सभा में ऐसे लोगों की भी भीड़ पहुंची थी जो जय हो जय हो मोदी तो कर रहे थे, मगर वो यह नहीं बता पाये कि उनके लिए मोदी ने किया क्या है। कौन सा काम अच्छा किया है। सभा में पहुंचा ऐसे ही एक बीबीए के छात्र से जब पूछा कि मोदी सरकार ने छात्रों के लिए कौन से 5 काम किये हैं तो वह कहता है कश्मीर से 370 हटाया, आयुष्मान कार्ड और शौचालय निर्माण।

Next Story

विविध

Share it