Top
राजनीति

प्रवासी मजदूरों से राहुल गांधी क्या मिले कि बौखलाहट में आ गई मोदी सरकार

Nirmal kant
18 May 2020 2:30 AM GMT
प्रवासी मजदूरों से राहुल गांधी क्या मिले कि बौखलाहट में आ गई मोदी सरकार
x

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जहां रविवार को राहुल गांधी की मुलाकात को ड्रामेबाजी करार दिया, वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाल ने कहा कि सरकार को इस टिप्पणी के लिए प्रवासी मजदूरों से माफी मांगनी चाहिए...

जनज्वार। प्रवासी मजदूरों से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की दिल्ली में शनिवार की मुलाकात के बाद केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार और विपक्षी दल कांग्रेस के बीच शब्दों की जंग छिड़ गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जहां रविवार को राहुल गांधी की मुलाकात को ड्रामेबाजी करार दिया, वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाल ने कहा कि सरकार को इस टिप्पणी के लिए प्रवासी मजदूरों से माफी मांगनी चाहिए।

संबंधित खबर : ज्यां द्रेज ने मोदी के हर गलत फैसले से पहले देश को चेताया, लेकिन उनकी न समाज सुनता है न सरकार

सुरजेवाला ने कहा कि वित्त मंत्री ने प्रवासी मजदूरों के जख्मों पर नमक छिड़का है। उन्होंने कहा, 'अगर दर्द साझा करना अपराध है, तो हम ऐसा करना जारी रखेंगे।" सुरजेवाला ने कुछ समय पहले मोदी द्वारा 'मजदूरों के पैर धोने के असली नाटक' की भी याद दिलाई।'

ने शनिवार को मथुरा रोड पर सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास राहुल गांधी की प्रवासी मजदूरों से बातचीत की वीडियो और तस्वीरें जारी की थीं। ये मजदूर करीब 700 किलोमीटर दूर झांसी के पास स्थित अपने गांव जा रहे थे। वे अंबाला से पैदल चले थे।

संबंधित खबर : बीते 24 घंटों में प्रवासी मजदूरों पर देशभर में हुआ बर्बर पुलिसिया लाठीचार्ज, TWITTER पर हो रही निंदा

राहुल गांधी ने फुटपाथ पर बैठकर 20 मजदूरों के समूह से बातचीत की थी। सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने क्षेत्रीय मीडिया कर्मियों के साथ बातचीत के बाद खुद दौरा करने और जमीनी हालात देखने का फैसला किया है।

Next Story

विविध

Share it