राजनीति

CAA और NRC के समर्थन में प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना गुजरात

Nirmal kant
11 Jan 2020 7:35 AM GMT
CAA और NRC के समर्थन में प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना गुजरात
x

गुजरात विधानसभा में एनआरसी और सीएए के समर्थन में पारित किया गया प्रस्ताव, प्रस्ताव में इस फैसले को बताया गया ऐतिहासिक और साहसिक, प्रस्ताव पर सदन में हुई जमकर बहस..

जनज्वार। गुजरात विधानसभा ने शुक्रवार 10 जनवरी को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को नागरिकता (संशोधन) अधिनियम पारित करने के लिए बधाई देते हुए एक प्रस्ताव पारित किया। विधानसभा में विपक्षी कांग्रेस ने इस प्रस्ताव का विरोध किया।

प्रस्ताव पर गरमागरम बहस के दौरान कांग्रेस विधायक इमरान खेड़ावाला ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ अपने खून में लिखा हुआ पोस्टर दिखाया। हंगामे के बाद सदन को भी पंद्रह मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया।

संबंधित खबर : नागरिकता संसोधन काननू (CAA) पर मोदी सरकार के 7 सबसे बड़े झूठ

को गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा को भेजा गया। प्रस्ताव में इसे 'साहसिक और ऐतिहासिक फैसला' बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को बधाई दी गई।

प्रस्ताव पर दो घंटे की लंबी चर्चा के बाद इसे बहुमत से पारित किया गया। पिछले महीने वाम शासित केरल की विधानसभा ने एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें विवादास्पद अधिनियम को समाप्त करने की मांग की गई थी।

संशोधन अधिनियम ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को सताए जाने के लिए भारतीय नागरिकता का वादा किया है।

संबंधित खबर : CAA-NRC के खिलाफ प्रदर्शनों से घबराए पीएम मोदी और अमित शाह, असम दौरा किया रद्द

स कानून के आलोचकों का कहना है कि यह कानून भेदभावपूर्ण है क्योंकि यह केवल मुसलमानों को छोड़ता है और संविधान के मूल मूल्यों का उल्लंघन करता है।

Next Story