Top
बिहार

पंजाब से पैदल बिहार लौट रहे प्रवासी मजदूरों को रोडवेज बस ने कुचला, 6 की मौत

Manish Kumar
14 May 2020 1:57 AM GMT
पंजाब से पैदल बिहार लौट रहे प्रवासी मजदूरों को रोडवेज बस ने कुचला, 6 की मौत
x

file photo

सभी मजदूर पंजाब में काम करते थे और बिहार जा रहे थे...

जनज्वारः लॉकडाउन के चलते मजदूरों का अपने गांवों की ओर पलायन जारी है. पलायन के दौरान मजदूरों के साथ हादसे की खबरें लगातार आ रही हैं. ऐसी ही एक दुखद खबर मुजफ्फरनगर से आई है.

मुजफ्फरनगर में स्टेट ट्रांसपोर्ट की बस ने मजदूरों की कुचल दिया है. हादसे में 6 मजदूरों की मौत हो गई है जबकि 4 गंभीर रूप से घायल हुए हैं. बताया जा रहा है कि सभी मजदूर पंजाब में काम करते थे और बिहार जा रहे थे.

यह भी पढ़ें- बैल बनकर बैलगाड़ी खींचने को मजबूर हुआ मजदूर क्योंकि रास्ते में भूख-प्यास से मर गया एक बैल

मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में ले लिया. साथ ही घायल मजदूरों को जिला चिकित्सालय लाकर भर्ती कराया गया है.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक बस का ड्राइवर शराब के नशे में धुत था। सहारनपुर के थाना देवबंद क्षेत्र की घलोली चेक पोस्ट को पार कर मुजफ्फरनगर जनपद की सीमा में घुसी तो टोल प्लाजा से कुछ ही दूरी पहले रोडवेज बस ने इन मजदूरों को कुचल दिया। रोडवेज बस ड्राइवर को पुलिस ने पकड़ लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

हर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनिल कपरवान के मुताबिक पिता-पुत्र समेत छह लोगों की मौके पर मौत हो गई। मृतकों के नाम हरेक सिंह (52) पुत्र जमादार सिंह, विकास (22) पुत्र हरेक सिंह, गुड्डू (18) पुत्र बूंदा नंदराय, वासुदेव (22) पुत्र जवाहर सिंह, हरीश साहनी (42) पुत्र मती साहनी, वीरेंद्र (28) पुत्र श्यामनाथ निवासीगण गोपालगंज बिहार बताए गए हैं।

ता दें लॉकडाउन में सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूरों को परेशानी भुगतनी पड़ रही है. काम धंधे बंद हो जाने की वजह से ये लोग अपने घरों को वापस जाने के लिए मजबूर हैं. लगातार ऐसी खबरें जब घर जाते मजदूर किसी हादसे का शिकार हो गए.

मई को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक मालगाड़ी ने रेलवे ट्रैक पर सो रहे प्रवासी मजदूरों के एक समूह को कुचल दिया, जिसमें कम से कम 16 मजदूरों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- बीच सड़क पर मजदूर ने बच्चे को दिया जन्म, मासूम को गोद में उठा पैदल तय किया 270 KM का सफर

अधिकारियों ने कहा कि अपने घरों को लौट रहे मजदूरों के इस समूह के साथ यह दुर्घटना जालना और औरंगाबाद के बीच हुई। ये प्रवासी श्रमिक कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर लागू लॉकडाउन के बीच मध्य प्रदेश में अपने गांव लौटने की कोशिश कर रहे थे।

मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में मई की देर रात आम से भरा ट्रक पलटने से 5 मज़दूरों की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि 13 अन्य मज़दूर गम्भीर रूप से जख्मी भी हो गए। बताया जा रहा है कि सभी मज़दूर हैदराबाद से आ रहे आम के ट्रक में छिपकर उत्तर प्रदेश के झांसी जा रहे थे।

ऑटो रिक्शा की सवारी से मुंबई से जौनपुर जा रहा एक परिवार फतेहपुर जिले की खागा कोतवाली क्षेत्र में मंगलवार 12 मई को सड़क हादसे का शिकार हो गया। अज्ञात वाहन की टक्कर लगने से महिला और उसकी मासूम बेटी की मौके पर मौत हो गयी और पति व दो बेटे गंभीर रूप से घायल हो गए।

Next Story

विविध

Share it