Top
अंधविश्वास

कोरोना फैलाने की अफवाह में झारखंड में गई एक और जान

Janjwar Team
8 April 2020 11:40 AM GMT
कोरोना फैलाने की अफवाह में झारखंड में गई एक और जान

झारखंड में कोरोना लाॅकडाउन के दौरान यह हत्या की दूसरी घटना है जब कोरोना वायरस की अफवाह के चलते किसी की मौत हुई है....

रांची से राहुल सिंह की रिपोर्ट

जनज्वार। झारखंड के गुमला जिले में कोरोना वायरस फैलाने की अफवाह को लेकर भड़की हिंसा में फिर एक व्यक्ति की जान चली गयी है। इससे पहले 2 लोगों की अफवाहों के चलते मौत हो चुकी है। गुमला जिले के विभिन्न प्रखंडों में इन दिनों अफवाह फैली हुई है कि कुछ लोग गांव में घूम-घूम कर कोरोना वायरस फैला रहे हैं।

लोगों के बीच यह अफवाह फैली हुई है कि 50 लोगों का एक समूह है जिसमें कुछ लोग अलग-अलग ग्रुप में कुएं में कोरोना वायरस डाल रहे हैं या फिर थूका हुआ पैसा व छींक कर कोरोना वायरस फैला रहे हैं। इससे पहले दो और लोगों की अफवाह व ऐसे संदेह में जान जा चुकी है। इसमें एक व्यक्ति की पलामू में हत्या की गयी थी, जबकि लाॅकडाउन के पहले एक व्यक्ति को खांसने पर कोरोना मरीज बताकर धनबाद के गोमो स्टेशन में दूसरे यात्रियों ने ट्रेन से उतार दिया था, जिससे हार्ट अटैक से उसकी मौत हो गयी थी। दो लोगों की अफवाह में जान जा चुकी है।

स अफवाह से उत्पन्न संदेह के कारण मंगलवार रात जिले के सिसई में पांच युवकों को पीट दिया गया जिसमें एक को अधिक चोट लगी और उसे व एक अन्य को रांची स्थित रिम्स रेफर किया गया। वहीं, इस घटना बाद एक दूसरे समूह ने एक अन्य व्यक्ति की पिटाई कर दी, जिसे इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां बोलबा उरांव (55) की मृत्यु हो गयी। सिसई के कुदरा गांव का रहने वाले बोलबा उरांव धारदार हथियार से हमला किया गया था। 55 वर्षीय उरांव के चार बच्चे हैं। इनमें तीन लाॅकडाउन में बाहर फंसे हैं, जबकि एक बेटी घर पर है।इस सिलसिले में 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस घटना के बाद सिसई में तनाव व्याप्त हो गया है। राज्य मुख्यालय से वरिष्ठ अधिकारियों को हालात को नियंत्रित करने के लिए सिसई भेजा गया है।

संबंधित खबर : राज्य से बाहर फंसे हुए कामगारों को बिहार सरकार ने भेजी 1000 रूपये की सहायता

स मामले में 22 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके साथ ही आज पूरी तरह से जिले में लाॅकडाउन पालन करने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान किसी को भी बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। आज अनिवार्य सेवाओं जैसे दवा, दूध आदि की दुकानें भी बंद रखने का आदेश है और बाहर घूमने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस के प्रवक्ता व डीआइजी आॅपरेशन साकेत कुमार सिंह ने इस मामले में कहा है कि सिसई में हालात तनाव पूर्ण लेकिन काबू में है। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त बल को सिसई में तैनात किया गया है। बीएसएफ की टीम भी सिसई में तैनात की गयी है। इससे पहले पुलिस ने गुमला जिले के दो युवकों को कोरोना फैलाने वाले ग्रुप का अफवाह फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया था। झारखंड का गुमला जिला यूं भी अफवाह, अंधविश्वास को लेकर चर्चित रहा है। यह जिला ऐसा है कि बिना किसी बंदी के एक बार बंदी का अफवाह उड़ने पर स्वतः बंद भी रह चुका है।

संबंधित खबर : कोरोना विवाद में झारखंड में 50 साल के दुकानदार की पीटकर हत्या

ब कोरोना महामारी में फैल रही अफवाहों ने लोगों को परेशान कर रखा है। कई गांव के लोग हथियार से लैस होकर रतजगा कर रहे हैं। उनकी ऐसी तैयारी व मुश्तैदी इस बात को लेकर है कि गांवों में कोरोना फैलाने वाले घूम रहे हैं। ऐसे में अप्रिय हालात का खतरा बना हुआ रहता है।

हीं गुमला के उपायुक्त शशि रंजन ने लोगों से अपील की है कि वे अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोई संशय हो तो नियंत्रण कक्ष में फोन करें। वहीं, एसपी अंजनी कुमार झा ने कहा है कि इस मुश्किल समय में किसी की धार्मिक भावना को ठेंस नहीं पहुंचाएं और सांप्रदायिक सद्भावना को कायम रखें। जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया पर फैलाए जाने वाले किसी भी तरह के अफवाह से सख्ती से निबटने का आदेश दिया है।

प्रशासन एक ओर जहां हालात को नियंत्रण में रखने के लिए मशक्कत कर रहा है, वहीं लोगों को अफवाह को लेकर जागरूक कर रहा है और यह बता रहा है कि ऐसा कुछ नहीं है ये सब बातें अफवाह हैं। झारखंड में कोरोना लाॅकडाउन के दौरान यह दूसरी हत्या है।

संबंधित खबर : कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो रहे परिजन

ससे हले पलामू जिले में एक दुकानदार की हत्या दो युवकों को दुकान पर आने से मना करने व घर पर रहने की सलाह देने के कारण कर दी गयी। वे दो युवक महानगर से लौटे थे और उन्हें जिला प्रशासन ने होम क्वारंटाइन में 14 दिन रहने की सलाह दी थी, लेकिन वे इसका पालन किए बिना गांव में इधर-उधर घूमते रहते थे। जब दुकानदार ने उन्हें समझाया तो दो युवकों ने परिवार के अन्य लोगों के साथ पीट कर दुकानदार की ही हत्या कर दी।

Next Story

विविध

Share it