Top
उत्तर प्रदेश

डॉक्टर बोली कोरोना संदिग्ध तब्लीगी कर रहे डॉक्टरों-नर्सों से दुर्व्यवहार, मांग रहे हैं चिकन-मटन

Prema Negi
5 April 2020 6:21 AM GMT
डॉक्टर बोली कोरोना संदिग्ध तब्लीगी कर रहे डॉक्टरों-नर्सों से दुर्व्यवहार, मांग रहे हैं चिकन-मटन
x

कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल की डॉक्टर ने कहा जमातियों को चावल, दाल और पनीर दिया गया था, जिसे उन्होंने खाने से इनकार कर दिया और अब वे मांसाहारी भोजन मांग रहे हैं...

कानपुर, (आईएएनएस)। अस्पताल कर्मियों के साथ तब्लीगी जमात के सदस्यों द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने का एक और मामला अब कानपुर से सामने आया है। उपचार के लिए यहां के एक अस्पताल में भर्ती कुछ कोविड-19 संक्रमित संदिग्धों ने कर्मचारियों के साथ बदतमीजी की है।

संबंधित खबर : ‘कोरोना वायरस से पहले भूख हमें मार देगी’, लॉकडाउन पर रोहिंग्या शरणार्थियों ने बयां किया दर्द

कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल में भर्ती जमातियों ने कथित तौर पर दवा लेने से इनकार कर दिया और चिकित्सा कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार किया, जिसके बाद अधिकारियों को वहां से महिला कर्मचारियों हटाना पड़ा।

भी पढ़ें : तब्लीगी जमात के आयोजकों का इलाज न करें, इसके बजाय उन्हें गोली मार दें – राज ठाकरे

स्पताल की एक वरिष्ठ डॉक्टर आरती लालचंदानी का कहना है कि "हमारी टीम यहां भर्ती होने वालों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने में लगी हुई है। उन्हें अस्पताल में नहीं थूकने के लिए कहा गया, लेकिन वे हमारे निर्देशों को पालन नहीं कर रहे हैं और अपने हाथों पर थूकने के बाद फिर सीढ़ी की रेलिंग को छू रहे हैं। उन्होंने डॉक्टरों के साथ भी दुर्व्यवहार किया।"

संबंधित खबर : शिया नेताओं ने कहा प्रतिबंधित हो तब्लीगी जमात, आत्मघाती दस्ता का भी लगाया आरोप

न्होंने आगे कहा, "जमातियों को चावल, दाल और पनीर दिया गया था, जिसे उन्होंने खाने से इनकार कर दिया और अब वे मांसाहारी भोजन मांग रहे हैं। वे अच्छे कपड़े और बेहतर सुविधाओं दिए जाने की भी मांग कर रहे हैं।"

डॉक्टर आरती लालचंदानी ने आगे कहा, "हालांकि, पुलिस के हस्तक्षेप के चलते अब स्थिति नियंत्रण में आ गई है।"

खबर : अमित शाह तब्लीगी जमात में शामिल हुए 960 मुस्लिम विदेशियों के झूठ पर हुए सख्त, दिया कड़ी कार्रवाई का आदेश

मुख्य चिकित्सा अधिकारी अशोक शुक्ला ने कहा कि 22 में से छह जमाती सदस्यों में कोविड-19 वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। सभी 22 लोगों को मंगलवार और बुधवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

यह भी पढ़ें : साम्प्रदायिक मीडिया तब्लीगी जमात पर कोरोना का ठीकरा जितना फोड़ ले, फिर भी ये सवाल बरकरार हैं

भी व्यक्ति उन हजारों लोगों में से हैं, जिन्होंने तब्लीगी जमात के नई दिल्ली मुख्यालय में एक धार्मिक कार्यक्रम में भाग लिया था, जिसे अब कोविड-19 संक्रमण के प्रसार के एक केंद्र के रूप में देखा जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it