Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर: ठेके सील तो पेटियां ले उड़े चोर, शराब के साथ होली की फोटो पोस्ट करने पर एक गिरफ्तार

Nirmal kant
12 April 2020 4:30 AM GMT
कानपुर: ठेके सील तो पेटियां ले उड़े चोर, शराब के साथ होली की फोटो पोस्ट करने पर एक गिरफ्तार
x

कानपुर में महामारी और लॉकडाउन के मद्देनजर शराब की सभी दुकानें सील, आबकारी विभाग को शहर के कई स्थानों पर मिल रही थी शराब बिक्री की सूचना, शराब की दुकानों पर धावा बोलकर चोर कई-कई पेटियां चुरा ले गए...

कानपुर से मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। कानपुर में शराब की बोतलों के साथ सोशल मीडिया पर फोटो पोस्ट करने पर धोबी मोहाल के सराफा चौक निवासी चंद्रप्रकाश पांडेय को उस समय भारी पड़ गया जब कोतवाली पुलिस साइबर सेल की मदद से उनके घर तक पहुंच गई। संकट की इस घड़ी में घर पर पहुंची पुलिस को अचानक देख सभी परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई। माजरा पूछने पर बताया गया कि पांडेय जी ने मठाधीशी दिखाने के चक्कर मे शराब की बोतलों के साथ सोशल मीडिया पर जो फ़ोटो पोस्ट की थीं वही अब उनके गले का बाल बन गई है। पुलिस ने युवक के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

संबंधित खबर : कोरोना संकट- IIT कानपुर ने तैयार किया 100 रुपये से भी कम कीमत का पीपीई किट

इंस्पेक्टर कोतवाली संजीवकांत मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार धोबी मोहाल के सर्राफा चौक निवासी चंद्रप्रकाश का कहना है कि पोस्ट की गई सभी फोटो होली की है। जो उसने अब सोशल मीडिया पर डाली थीं। गज्जब की बेवकूफी में घिरा युवक चंद्रप्रकाश पर पुलिस ने अब लॉकडाउन उल्लंघन का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

दें कि लॉकडाउन घोषित होने के बाद पुलिस इस तरह की फोटो, वीडियो व अन्य कंटेंट की निगरानी रख रही है। साइबर सेल पूरे तौर पर सक्रिय है और सब पर नजर बनाए हुए है। यदि कोई भी व्यक्ति भड़काऊ पोस्ट इत्यादि करता है तो उसके खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जा रही है।

फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार युवक के सभी भ्रामक व भड़काऊ दिखने लगने वाली 257 पोस्टों को डिलीट करवा दिया है। इसके अलावा अब तक सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले दो और व्यक्तियों के खिलाफ कोतवाली, बजरिया तथा एक केस कल्याणपुर थाने में दर्ज किया जा चुका है।

कोरोना की महामारी में लॉकडाउन क्या हुआ लोगों ने शराब की डकैती डालनी शुरू कर दी है। कल की 10 अप्रैल रात शहर की सात अलग अलग थानाछेत्रों की दुकानों से शराब की चोरी हुई। जिसके बाद आबकारी डिपार्टमेंट ने डीआईजी से मुलाकात कर सुरक्षा बढ़ाने की मांग के साथ एफआईआर भी दर्ज कराई है।

जिला आबकारी अधिकारी अरविंद कुमार मौर्या ने जनज्वार संवाददाता को फोन पर बताया कि बिठूर के ईश्वरीगंज स्थित ठेके से 14 पेटी, ककवन के देशी शराब ठेके से 12 पेटी, नौबस्ता के राजीव विहार ठेके से 22 पेटी, घाटमपुर के बरिपाल से 7 पेटी, नबाबगंज से 18 पेटी शराब, चकेरी के कोयला नगर ठेके से 18 पेटी के अलावा एक अन्य दुकान से कुछ पेटियां गायब हैं। इसके अलावा 10 अन्य दुकानों से चोरी का प्रयास भी किया गया है।

खबर : लापरवाही की आग में जलकर खाक हुई गरीबों की झुग्गी-झोपड़ियां, रोजी-रोटी और जीवनभर की कमाई खत्म

बीती 9 अप्रैल को शराब की अवैध बिक्री की मिल रही शिकायतों के बाद जिला आबकारी प्रशाशन ने शहर के सभी देशी, इंग्लिश और बियर के ठेकों को सील कर दिया था, साथ ही यह आदेश जारी किया गया था कि यदि ठेकों पर लगे तालों की सील टूटी मिली तो न सिर्फ कड़ी कार्रवाई की जाएगी बल्कि एफआईआर भी दर्ज की जाएगी। जिला आबकारी अधिकारी को रोजाना लॉकडाउन के दौरान अलग अलग थानाछेत्रों से अवैध रूप से चल रही शराब बिक्री की सूचनाएं मिल रहीं थी।

ताते चलें कि लॉकडाउन में शराब की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है। शराब की हो रही अवैध बिक्री को देखते हुए शहर के सभी 722 इंग्लिश, देशी और बियर के ठेके सील करवा दिए गए हैं। इसके साथ ही आबकारी विभाग ने शराब के सभी 28 गोदामों को भी सील कर दिया है। साथ ही कहा गया कि यदि शहर के किसी भी ठेके से चोरी छिपे या अवैध शराब बेचने की सूचना दोषी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के अलावा उसका लायसेंस भी कैंसल कर दिया जाएगा।

Next Story

विविध

Share it