Top
उत्तर प्रदेश

यूपी के घाटमपुर में जहरीली शराब पीने से 2 की मौत, ग्राम प्रधान समेत 6 अन्य गंभीर

Nirmal kant
12 April 2020 11:53 AM GMT
यूपी के घाटमपुर में जहरीली शराब पीने से 2 की मौत, ग्राम प्रधान समेत 6 अन्य गंभीर
x

यूपी सरकार के लॉकडाउन की सख्तियों की खुली पोल, घाटमपुर में जहरीली शराब पीने से दो व्यक्तियों की मौत, 6 लोगों की हालत गंभीर...

मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। 22 मार्च की लॉकडाउन संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद देशभर के ठेकों को भी बन्द कर दिया गया था। जहां बन्द नहीं हुए थे बाद में वहां भी बन्द करवाये गए। शराब के ठेके बन्द करने की सख्ती उत्तर प्रदेश में खास तौर पर लागू की गई थी। ठेके बन्द करने के बाद भी शराब बिक्री की मिल रही सूचनाओं के बाद सभी ठेकों को मुहर लगाकर सील कर देने की भी सूचनाएं आ रहीं थी। लेकिन कानपुर के पड़ोसी जिले घाटमपुर के मवई भच्छन गांव में शनिवार देर रात जहरीली शराब पीने से 2 लोगों की मौत शासन-प्रशासन स्तर की सभी सख्तियों की पोल खोल गई।

गौरतलब है कि घाटमपुर के मवई भच्छन गांव में शराब पीने की वजह से दो की मौत हो गई तथा ग्राम प्रधान समेत छह लोगों की हालत अभी गंभीर बनी हुई है। सभी गंभीर कानपुर के हैलट में भर्ती हैं। मरने वालों में एक स्वास्थ्यकर्मी और दूसरा ट्रक ड्राइवर बताया जा रहा है।

गांव के प्रधान रणधीर यादव, पूर्व प्रधान रहे विपिन सचान के बेटे फतेहपुर के अमौली में स्वास्थ्य कर्मचारी 30 वर्षीय अंकित सचान और गांव का रमन सचान, प्रिंस सचान, पुत्तन यादव, विवेक शर्मा व लालजी ने शनिवार शाम एक साथ शराब पी। तो वहीं ट्रक ड्राइवर 31 वर्षीय अनूप सचान को घाटमपुर कस्बे से शराब पीकर घर आना बताया जा रहा है।

संबंधित खबर: कानपुर- ठेके सील तो पेटियां ले उड़े चोर, शराब के साथ होली की फोटो पोस्ट करने पर एक गिरफ्तार

राब पीने के बाद देर रात इन सबकी तबियत बिगड़ गई। आनन-फानन में परिजनों ने सभी को सीएचसी ले जाकर भर्ती कराया। गम्भीर अवस्था मे यहां से सभी को कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर कर दिया गया। हैलट अस्पताल में ट्रक ड्राइवर अनूप और स्वास्थ्य कर्मी अंकित सचान की इलाज के दौरान मौत हो गई। सूचना पर पुलिस गांव पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर अग्रिम कार्रवाई शुरू की।

रअसल कानपुर में लॉकडाउन होने के बाद से ही अवैध रूप से शराब बिक्री की सूचनाएं शहर के लगभग अधिकांश थानाक्षेत्रों से आ रहीं थीं, जिसके बाद जिला आबकारी अधिकारी ने सभी ठेकों जिसमे अंग्रेजी, देशी और बियर शॉप शामिल हैं को सील कर दिया था। सभी दुकान सील होने के बाद भी चूक कहाँ हो रही ये तो चूक करने वाला या करवाने वाला ही बता सकता है।

सी कड़ी में कल कानपुर के किदवई नगर थानाक्षेत्र के दीप तिराहे के पास स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान से कुछ लोग दुकान खोलकर शराब की पेटियां ले गए। मामला रात नहीं बल्कि भरी दोपहर का था, इसलिए चोर और चोरी का सवाल नही उठना चाहिये। क्योकि चोर एसयूवी से भला कब चोरी करने लगे। इन्नोवा क्रिस्टा और एक्सयूवी 500 से आये तथाकथित हाईटेक चोरों का कारनामा था ये जो घटा था।

वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आये या लाये गए थानेदार किदवई नगर धनेष प्रसाद ने जिला आबकारी विभाग और जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी को रिपोर्ट भेजकर अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज तो कर ली पर आरोपियों को पकड़ नहीं पाए। अजीब बात है कि सीसीटीवी की फुटेज मात्र से ही बाल का भी बाल निकाल लेने वाला पुलिस महकमा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के लॉकडाउन वाले आदेशो का मखौल बनाने वालों को अब तक काबू में नही ले पाया है।

संबंधित खबर: कोरोना संकट- IIT कानपुर ने तैयार किया 100 रुपये से भी कम कीमत का पीपीई किट

क्जरी गाड़ियों से आये सभी युवक चौड़े में शराब की पेटियां लेकर दीप तिराहे से फजलगंज की तरफ निकल गए। वायरल वीडियो में बाइक पर सवार दो पुलिस कर्मी भी हैं, जिसमे पीछे महिला सिपाही बैठी है जो युवकों से किसी प्रकार की मिलीभगत से इनकार कर रहे थे। अब दुकान से शराब निकली, जो बिना चाभी के नहीं निकल सकती। चाभी मतलब दुकान मालिक।

री दोपहर शराब की पेटियां ले जाई गई, जहां से पेटियां ले जाई गई वहां से 200 मीटर पर चौकी साकेत नगर, 500 मीटर पर थाना किदवई नगर, 400 मीटर पर एसपी साउथ का ऑफिस, फिर भी हौंसला देखिये जो बिना शह इतना बड़ा कारनामा और सीधे सीधे हाईटेक लुटेरे प्रशाशन की आंखों में काली मिर्च झोंकने में कामयाब रहे।

Next Story
Share it