Top
समाज

उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने वालों को सीन रिक्रिएशन के लिए कब बुलाएगी यूपी पुलिस!

Nirmal kant
7 Dec 2019 4:49 AM GMT
उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने वालों को सीन रिक्रिएशन के लिए कब बुलाएगी यूपी पुलिस!
x

उन्नाव की गैंगरेप पीड़िता को नहीं बचा पाए डॉक्टर, दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में ली अंतिम सांस, नाजुक हालत को देखते हुए लखनऊ से एयरलिफ्ट करके सफदरजंग अस्पताल लाई गई थी पीड़िता, शुभम त्रिवेदी, शिवम त्रिवेदी, उमेश वाजपेई, राज किशोर, हरिशंकर हैं गैंगरेप के आरोपी....

जनज्वार। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में गैंगरेप पीड़िता को तब जलाकर मारने की कोशिश की गई थी जब वह केस के सिलसिले में कोर्ट में पेश होने जा रही थी। पीड़िता के शरीर का 90 फीसदी हिस्सा जल चुका था जिसको देखते हुए उसे लखनऊ से एयरलिफ्ट करके दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था। पीड़िता को वेंटिलेटर पर रखा गया था लेकिन पीड़िता ने शुक्रवार 6 दिसंबर की रात 11.40 में दम तोड़ दिया। रेप पीड़िता के पिता ने कहा कि उनकी बेटी के गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की जरूरत नहीं है। हैदराबाद में जो कांड हुआ है, वही सजा मिले। या फिर दौड़ाकर गोली मारी जाए। या फिर फांसी दी जाए। इस गैंगरेप केस में जो आरोपी हैं उनमें शुभम त्रिवेदी, शिवम त्रिवेदी, उमेश वाजपेई, राज किशोर, हरिशंकर का नाम शामिल है।

ड़की पर 5 दिसंबर की सुबह कैरोसिन तब डाला जब वह सुनवाई के लिए कोर्ट जा रही थी। लड़की को गंभीर हालत में पहले लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया। फिर पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां बहुत बुरी तरह 90 फीसदी जली हुई हालत में उसे ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया था। फिर भी हालत में सुधार नहीं हुआ तो दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था।

ड़की उन्नाव की रहने वाली थी, जिसके साथ रायबरेली में रेप हुआ था, वहीं पर इस मामले की सुनवाई हो रही थी। 5 दिसंबर की सुबह जब पीड़ित लड़की केस की सुनवाई के लिए रायबरेली के लिए अपने घर से निकली थी तो बलात्कार आरोपी ने अपने साथियों के साथ उसके ऊपर केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी।

फदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने कहा, ‘हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका। शाम से ही उसकी हालत खराब होनी शुरू हो गई थी। रात 11.10 बजे उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया। हमने इलाज शुरू किया और उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन रात में 11.40 बजे उसकी मौत हो गई।'

संबंधित खबर : उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की हालत बेहद गंभीर, दिल्ली के सफदरजंग अस्पाल में भर्ती

ससे पहले पीड़िता की हालत को लेकर सफदरजंग हॉस्पिटल की चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता ने कहा था कि पीड़िता की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है, और उसके बचने की संभावना बेहद कम है।

हीं दूसरी ओर लड़की के परिजनों को आरोपियों की ओर से जान से मारने की धमकी मिल रही हैं। लड़की के चाचा कोतवाली गंगाघाट इलाके में रहते हैं। उनके अनुसार आरोपी युवक के रिश्तेदार की तरफ से फोन आया, जिसमें उन्होंने जान से मारने की धमकी दी गई। साथ ही कहा गया कि उनकी दुकान जला देंगे। धमकी के बाद से परिवार में दहशत का माहौल है।

महिला आयोग ने इस मामले का स्वत: ही संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह को पत्र लिखा है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने पत्र लिख कर मांग की है कि आरोपियों के खिलाफ जल्द से जल्द सख्त कार्रवाई की जाए। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी बीते पांच दिनों से बलात्कार के खिलाफ अनशन पर बैठी हुई हैं। स्वाति मालीवाल ने मांग की है कि उन्नाव गैंगरेप के मामले में दोषियों को फांसी की सजा मिले।

संबंधित खबर : उन्नाव रेप पीड़िता दुर्घटना मामले में सीबीआई की चार्जशीट में सेंगर का नाम शामिल, मगर हत्या का आरोप नहीं

न्नाव के इस मामले पर जहां देशभर में आक्रोश है, वहीं उन्नाव के माखी गांव में तीन साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न के प्रयास का एक और मामला सामने आया है। इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। उन्नाव के एसपी विक्रम वीर ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि हमने घटना स्थल से आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। केस दर्ज कर लिया गया है, जांच जारी है।

Next Story

विविध

Share it