Top
उत्तर प्रदेश

UP में मजमा लगाये इंस्पेक्टर को दरोगा ने दिया सोशल डिस्टेंशिंग का ज्ञान तो कर दी पड़ोसियों के साथ मिलकर पिटाई

Prema Negi
3 April 2020 4:40 AM GMT
UP में मजमा लगाये इंस्पेक्टर को दरोगा ने दिया सोशल डिस्टेंशिंग का ज्ञान तो कर दी पड़ोसियों के साथ मिलकर पिटाई
x

कहासुनी कब कपड़ा फाड़ संघर्ष में तब्दील हो गयी, वर्दी कब कतरा—कतरा हो गयी पता ही नहीं चला। घर के बाहर बैठे इंस्पेक्टर ने अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर दरोगा सिपाही की जमकर पिटाई कर दी...

जनज्वार, कानपुर। कोरोना की भयावहता के बीच हर आम और खास लोग घर में रुक रहा है, सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जा रहा है, मगर इसी बीच कल 2 अप्रैल को कानपुर के चकेरी स्थित सनिगवां में कुछ ऐसा हुआ, जिसने एक बड़ा तमाशा खड़ा कर दिया। लोग अपनी छतों और घरों की बाल्कनियों से पुलिसकर्मियों में मचे घमासान का तमाशा देखते रहे।

गौरतलब है कि कोरोना के चलते लॉकडाउन घोषित होने पर एक व्यक्ति अपने घर से बाहर कुछ लोगों के साथ बैठा हुआ था, जिसे पुलिसकर्मियों ने डपटा और टोका। मगर वर्दीधारियों ने लॉकडाउन के उल्लंघन के लिए जिसको डांटा, वो भी वर्दीधारी ही निकला। ठसक दिखाने के बीच दोनों में कहासुनी हो गयी। कहासुनी कब कपड़ा फाड़ संघर्ष में तब्दील हो गयी, वर्दी कब कतरा-कतरा हो गयी पता ही नहीं चला। घर के बाहर बैठे इंस्पेक्टर ने अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर दरोगा सिपाही की जमकर पिटाई कर दी।

यह भी पढ़ें : जनज्वार की खबर का असर, मजदूर को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले दोनों सिपाही लाइन हाजिर

रअसल कानपुर के चकेरी थानाक्षेत्र की सनिगवां चौकी में तैनात दरोगा रामबाबू लॉकडाउन के निर्धारित समय मे गस्त कर रहे थे। लोग घरों में हैं कि नहीं मुआयना करने निकले थे। सनिगवां के केआरपुरम निवासी इंदरपाल सिंह सेंगर अपने कुछ साथियों सहित घर के बाहर बैठकर बातें कर रहे थे। इंद्रपाल सिंह सेंगर उन्नाव में ट्रैफिक इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं। सभी को वहां बैठकर बतियाते देख दरोगा रामबाबू ने डांटते हुए घर के अंदर जाने को कहा। 'पहले तमीज से बात करो' ये कहकर टीआई इंदरपाल ने दरोगा से अभद्रता कर वहां से भगा दिया।

संबंधित खबर : गुड़गांव से लौटे दलित मजदूर को यूपी पुलिस ने इतना पीटा कि कर ली आत्महत्या

थोड़ी ही देर बाद दरोगा रामबाबू अपने साथी दरोगा जितेंद्र बहादुर और कुछ सिपाही लेकर टीआई के पास पहुंचे और उन्हें घर के अंदर जाने के लिए कहा, जिस पर टीआई इंदरपाल सिंह सेंगर की पुलिस से नोंकझोंक शुरू हो गई। दोनों में नोंकझोंक थोड़ी देर में मारपीट में बदल गयी।

ने भी अपने दरोगा साहब को पिटता देख डंडे चला दिए। डंडे चलने के बाद टीआई रामबाबू ने अपने पड़ोसियों को आवाज मारी। आवाज पाकर करीब 8 से 10 की संख्या में आये पड़ोसियों ने दोनों के साथ मिलकर लााठी—डंडों से पूरे पुलिस दल को बुरी तरह पीट दिया। मारने-पीटने के बाद दरोगा की वर्दी भी फाड़ दी गई।

यह भी पढ़ें : लाचार-गरीब बाप लगा रहा गुहार, कोई मेरे बीमार बेटे की कोरोना जांच करवा दो, उसकी हालत है गंभीर

जानकारी के मुताबिक इस मारपीट में चकेरी थाने के दो दरोगा घायल हुए हैं। पुलिस का आरोप है कि मारपीट के दौरान ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने ही दरोगा की वर्दी फाड़ी। घटना के बाद आरोपी ट्रैफिक इंस्पेक्टर मौके से फरार हो गया है। एक अन्य आरोपी जिसे एयरफोर्स कर्मी बताया जा रहा है, को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

स मामले में कैंट सीओ आरके चतुर्वेदी का कहना है कि यह चकेरी थाने के सनिगवां चौकी का मामला है। एसआई जितेंद्र सिंह और रामबाबू मय पुलिस फ़ोर्स लॉकडाउन की रूटीन चेकिंग पर थे। केआर पुरम निवासी ट्रैफिक इंस्पेक्टर जो उन्नाव में तैनात है, ने अपने कुछ साथियों संग पुलिस दल पर हमला बोल दिया। इसमें दो दरोगाओं को चोट आई है, साथ ही कुछ अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

यह भी पढ़ें : सोशल-डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन कराने गए पुलिसवालों को भीड़ ने बुरी तरह पीटा, दारोगा की हालत गंभीर

मारपीट के दौरान हमलावरों ने दरोगा रामबाबू की वर्दी भी फाड़ दी। टीआई के दो साथियों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें एक एयरफोर्स कर्मी बताया जा रहा है। आरोपी टीआई फरार हो गया है, तलाश जारी है। मुकदमा पंजीकृत कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Next Story
Share it