Top
उत्तर प्रदेश

योगी का आदेश, नर्सों से अश्लील हरकत करने वाले जमातियों को कानून का पालन करना सिखाओ

Janjwar Team
3 April 2020 10:45 AM GMT
योगी का आदेश, नर्सों से अश्लील हरकत करने वाले जमातियों को कानून का पालन करना सिखाओ
x

सीएम योगी ने आज एक बैठक के दौरान कहा कि इंदौर जैसी घटना यूपी में कहीं नहीं दिखनी चाहिए। इसके लिए कानूनन जो भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी हो, वो करिए...

जनज्वार ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार टीम 11 के साथ बैठक की। बैठक के दौरान गाजियाबाद की घटना में कड़ी कार्रवाई के लिए अफसरों को आदेश दिया है। सीएम योगी ने कहा कि इंदौर जैसी घटना यूपी में कहीं नहीं दिखनी चाहिए। इसके लिए कानूनन जो भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी हो, वो करिए। योगी ने कहा कि गाजियाबाद में जिन लोगों ने यह हरकत की, उस प्रवृत्ति के लोगों के साथ पूरी सख़्ती करो और उन्हें कानून का पालन करना सिखाओ।

योगी ने कहा कि हम जैसे इंसेफेलाइटिस से लड़कर जीते, वैसे ही कोरोना से लड़कर भी जीतेंगे। यही नहीं हमें आगे की भी चुनौती की तैयारी रखनी है ताकि इस तरह की किसी भी आपदा से हम अपने प्रदेश के लोगों को पूरी तरह सुरक्षित रख सकें। लैब और इंफ़्रास्ट्रक्चर को मजबूत रखना है।

खबर : उत्तराखंड से जाने की जिद्द पर अड़े यूपी-बिहार के मजदूरों की काउंसिलिंग कराएगी सरकार

योगी ने कहा कि क्वारंटाइन लोग भागे तो डीएम एसपी की जवाबदेही तय होगी। ज़रूरी सामानों की आपूर्ति करने वाले वाहनों को आने जाने की पूरी छूट है। योगी ने कहा कि आमजन के सहयोग से प्रदेश को हर तरह-तरह की आपदा से लड़ने के लिए आत्मनिर्भर बनाने के लिए ये फंड बनाया गया है। फंड में पहला योगदान प्रदेश के बेसिक शिक्षकों और शिक्षाधिकारियों ने दिया।

गौरतलब है कि गाजियाबाद में शुक्रवार तक एमएमजी अस्पताल में 13 जमातियों को क्वारंटाइन किया गया था। लेकिन इनमें से कुछ जमातियों पर आरोप था कि वे वार्ड में नर्सों और महिला कर्मचारियों के सामने पैँट उतार कर घूम रहे हैं। महिला मेडिकल स्टॉफ के साथ अश्लील हरकत करने का भी इन पर आरोप है। इस बारे में अस्पताल के नर्सिंग कर्मियों ने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को पत्र लिखकर शिकायत की थी।

हीं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखने का आग्रह किया था। इसके बाद नगर कोतवाली थाना पुलिस ने इसी पत्र के अधार पर देर रात जमातियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

रअसल गाजियाबाद के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किये गए कोरोना वायरस के संदिग्ध जो दिल्ली की तब्लीगी जमात में शामिल थे, उन मरीजों के खिलाफ सीएमएस गाजियाबाद ने कोतवाली घण्टाघर में लिखित तहरीर दी है। सीएमएस द्वारा दी गई तहरीर में गंभीर आरोप लगाए गए हैं। तहरीर में कहा गया कि आइसोलेशन वार्ड में भर्ती ये मरीज बिना पैण्ट के घूम रहे हैं। साथ ही नर्सों को अश्लील इशारे कर अनुचित मांग कर रहे हैं।

संबंधित खबर : लॉकडाउन के दौरान पुलिस पर हमला करने वालों पर योगी सरकार ने लगाई रासुका

र्सों ने जमातियों पर अपने दिए लिखित आरोप में कहा है कि 'आइसोलेशन में भर्ती किये गए जमाती बिना पैण्ट पहने नंगे घूम रहे हैं। वार्ड में गंदे अश्लील गाने सुन रहे और नर्सों को गंदे गंदे इशारे कर रहे हैं। और तो और यह सभी लोग डॉक्टरों और नर्सों से बीड़ी और सिगरेट की मांग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में काम कर पाना सम्भव नहीं है।'

जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने नर्सों और सीएमएस की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए मामले की जांच एडीएम सिटी और एसपी सिटी को सौंपी है। पुलिस का कहना है कि जांच चल रही है रिपोर्ट आने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it