Top
दिल्ली

दिल्ली पुलिस के पास आया फोन, पापा शराब पीकर लॉकडाउन का उड़ाते हैं मजाक, जल्दी करो इनका इलाज'

Prema Negi
3 April 2020 11:49 AM GMT
दिल्ली पुलिस के पास आया फोन, पापा शराब पीकर लॉकडाउन का उड़ाते हैं मजाक, जल्दी करो इनका इलाज
x

युवक ने कहा वह और उसका पूरा परिवार शराबी पिता से है बहुत परेशान, पिता की हरकतों के चलते गांव की गलियों में भी उसके परिवार का उड़ाया जाता है मजाक...

नई दिल्ली। "पापा शराब पीकर घर में कोहराम मचा रहे हैं। शराब के नशे में बार-बार सड़क पर पहुंचकर लॉकडाउन का खुलेआम मजाक उड़ाते हैं। पुलिस तुरंत इन्हें काबू करे।" कोरोना जैसी त्रासदी और मुसीबत में यह सब सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन सच्चाई यही है। घटना दक्षिण-पश्चिम दिल्ली जिले के वसंत कुंज (दक्षिण) थाने की है।

यह भी पढ़ें : बिहार में भूख से तड़प रहीं अनाथ बहनों ने किया पीएमओ को फोन, तब जागा प्रशासन

थाना वसंतकुंज (साउथ) सूत्रों के मुताबिक, "बुधवार 3 अप्रैल को दिन के वक्त पुलिस के पास एक कॉल आई थी। कॉल करने वाले ने बताया कि वह रजोकरी गांव से बोल रहा है। 'तुरंत पुलिस मौके पर पहुंचे, मेरे पापा लॉकडाउन का मजाक उड़ा रहे हैं। उन्हें हम लोग बार बार कोरोना और लॉकडाउन के बारे में बता रहे हैं, मगर वह किसी की बात नहीं मान रहे हैं। मना करने के बाद भी बार-बार सड़कों पर चले जाते हैं।"

यह भी पढ़ें : भारत में कोरोना को मुस्लिम समुदाय से जोड़े जाने पर अमेरिका ने जताई आपत्ति, दे डाली ये नसीहत

थाना वसंतकुंज (साउथ) सूत्रों ने शुक्रवार 3 मार्च को आईएएनएस को बताया, "घटना सही है। सूचना पाकर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। रजोकरी गांव में पुलिस को सूचना देने वाला 40 साल का एक आदमी मिला। उसने बताया कि वह एक टेलीकॉम कंपनी में प्रबंधक है।"

पुलिस पूछताछ में युवक से पता चला कि वह और उसका परिवार शराबी पिता से बहुत परेशान है। पिता की हरकतों के चलते गांव की गलियों में भी उसके परिवार का मजाक उड़ाया जाता है। हद तो तब हो गई जब, पिता ने शराब पीकर लॉकडाउन को ही मजाक बना डाला। काफी समझाने के बाद भी जब वह नहीं माने तो उसने पुलिस को सूचना दी।

संबंधित खबर : कोरोना इलाज की मुश्किलों को सोशल मीडिया पर शेयर करने वाले डॉक्टर को ममता ने भेजा जेल

बेटे की शिकायत पर थाना वसंतकुंज साउथ पुलिस ने आईपीसी की धारा 188 के तहत केस दर्ज कर शराबी पिता को हिरासत में ले लिया। थाना पुलिस के ही एक अधिकारी ने शुक्रवार को नाम उजागर न करने की शर्त पर आईएएनएस से कहा, "शराबी पिता को लॉकडाउन की अहमियत और कोरोना के खतरे से बारे में काफी देर समझाया गया। उसके बाद कानूनी कार्रवाई करके चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।"

Next Story

विविध

Share it