राजनीति

Rajasthan Dalit murder : दलित हत्याकांड में अब राजनीति की इंट्री, बीजेपी-कांग्रेस भिड़े तो मायावती भी मैदान में

Janjwar Desk
10 Oct 2021 6:25 AM GMT
Rajasthan Dalit murder : दलित  हत्याकांड में अब राजनीति की इंट्री, बीजेपी-कांग्रेस भिड़े तो मायावती भी मैदान में
x
(राजस्थान में दलित युवक की हत्या को लेकर अब सियासत शुरू हो गई है) pic- social media
Rajasthan Dalit Murder : राजस्थान के हनुमानगढ़ में दलित युवक की हत्या मामले में अब सियासत शुरू हो गई है, बीजेपी सीधा कांग्रेस आलाकमान पर निशाना साध रही है तो हमला करने में मायावती भी पीछे नहीं रहीं..

(जनज्वार)। राजस्थान (Rajasthan) के हनुमानगढ़ (Hanumangarh) में दलित युवक की हत्या (Murder) मामले में अब राष्ट्रीय स्तर की सियासत शुरू हो गई है। बीजेपी सीधा कांग्रेस आलाकमान पर निशाना साध रही है तो हमला करने में बसपा सुप्रीमो मायावती भी पीछे नहीं रहीं।

बीजेपी इसे उत्तरप्रदेश के मामलों और उसपर कांग्रेस के बयानों और गतिविधियों से जोड़कर तंज कर रही है तो जबाब देने में कांग्रेस भी पीछे नहीं रही। हनुमानगढ़ (Hanumangarh) दलित (Dalit) हत्याकांड को लेकर बीजेपी (BJP) ने कांग्रेस से सवाल किया है कि क्या अब उसके शीर्ष नेता अपने मुख्यमंत्रियों के राजस्थान का दौरा करने जाएंगे।

हनुमानगढ़ के प्रेमपुरा गांव में एक युवक की पीट-पीटकर हत्या के मामले में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने सीधे राहुल गांधी पर निशाना लिया है। शेखावत ने ट्वीट कर कहा, "राहुल जी आप लखीमपुर की चिंता न करें। वहां योगी जी का शासन है। आपके प्रिय गहलोत जी का नहीं! आप राजस्थान के प्रेमपुरा में इस दलित युवक की हत्या पर कुछ कहने की हिम्मत दिखाएं, ताकि जनता को मालूम हो कि आप कितने सच्चे हैं?"

उधर, बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) की सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधा है। मायावती (Mayawati) ने ट्वीट कर लिखा है, "राजस्थान के हनुमानगढ़ में दलित की पीट-पीट कर की गई हत्या अति-दुःखद व निन्दनीय है, लेकिन कांग्रेस हाईकमान (Congress) चुप क्यों है? क्या छत्तीसगढ़ व पंजाब के सीएम वहां जाकर पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये की मदद देंगे? बीएसपी जवाब चाहती है। वरना दलितों के नाम पर घड़ियाली आँसू बहाना बन्द करें।"

वहीं, बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया (Gaurav Bhatia) ने कहा, "आज उस मंडली से कोई सदस्य बाहर नहीं आया। किसी ने एक इंसान की जान को इतना महत्वपूर्ण भी नहीं समझा कि इस मुद्दे को उठाए।" भाटिया ने सवाल उठाया कि क्या अब कांग्रेस के शीर्ष नेता अपने मुख्यमंत्रियों के साथ राजस्थान जाएंगे।

बता दें कि यह घटना बीते गुरुवार, 7 अक्टूबर 2021 की है। यहां कुछ युवकों ने दलित युवक जगदीश को लाठियों से बुरी तरह पीटा। उसे जमीन पर पटककर एक ने घुटने से गर्दन दबाई और बाकी पीटते रहे। बीच-बीच में उसे पानी भी पिलाते रहे। इस दौरान 3 युवक इस घटना का वीडियो बना रहे थे। हत्या के बाद वे जगदीश का शव उसके घर के बाहर फेंककर चले गए। घटना को लेकर हनुमानगढ़ पुलिस ने दावा किया था कि जगदीश की हत्या प्रेम प्रसंग में की गई है।

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। उधर, वायरल वीडियो में दिख रहा है कि जगदीश को किस बेरहमी से मारा गया। गुस्साए परिवार ने 2 दिन तक शव का पोस्टमॉर्टम नहीं कराया। उनका आरोप है कि वीडियो में आरोपियों के चेहरे साफ दिख रहे हैं, फिर भी पुलिस ने गिरफ्तारी नहीं की। इसके लिए परिजनों को शनिवार को आंदोलन करना पड़ा। दबाव बढ़ा तब पुलिस ने 3 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

उधर, एसडीएम रंजीत कुमार ने बताया कि प्रेमपुरा हत्याकांड मामले में शनिवार दोपहर बाद जगदीश के परिजनों से प्रशासन की बातचीत हुई। जगदीश के हत्यारों और उसकी हत्या करने की साजिश में शामिल आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी करवाने, मामले की निष्पक्ष जांच और पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद देने की मांग रखी गई। तीनों मांगों पर सहमति बनने पर पीड़ित परिवार शव ले जाने को तैयार हुआ।

वहीं, पीलीबंगा थाना प्रभारी इंद्रकुमार ने बताया कि अब तक इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी मुकेश, ओमप्रकाश उर्फ शिवप्रकाश और हंसराज को हिरासत में लिया गया है। ये सभी प्रेमपुरा के रहने वाले हैं। फरार आरोपियों की धरपकड़ के लिए दो टीमें गठित की गई हैं।

फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए उनके परिजनों को भी हिरासत में लिया है। जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तार कर लिया जाएगा। विनोद, मुकेश, लालचंद उर्फ रामेश्वर, सिकंदर, दलीप ओड, गंगाराम, महेंद्र, इंद्राज, ओमप्रकाश उर्फ नेन्हो, सुमन, हंसराज ओड के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

Next Story

विविध

Share it