समाज

Javed Akhtar : RSS की तुलना तालिबान से करने को लेकर जावेद अख्तर के खिलाफ दर्ज हुई FIR

Janjwar Desk
5 Oct 2021 3:34 AM GMT
Javed Akhtar : RSS की तुलना तालिबान से करने को लेकर जावेद अख्तर के खिलाफ दर्ज हुई FIR
x

(RSS की तुलना तालिबान से करने के आरोप में बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर के खिलाफ FIR दर्ज) file pic

Jawed Akhtar: जावेद के ख़िलाफ़ मुंबई पुलिस ने असंज्ञेय अपराध का मामला दर्ज़ किया है, जावेद अख़्तर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की तुलना आतंकी संगठन तालिबान से करने का आरोप लगाया गया है..

Jawed Akhtar : (जनज्वार)। बॉलीवुड के जाने-माने लेखक और गीतकार जावेद अख़्तर (Jawed Akhtar) के विरुद्ध मुंबई के एक थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। गीतकार अपनी बेबाकी के कारण एक बार फिर चर्चा में हैं। वे विवाद और कानूनी पचड़े में उलझ गये हैं। जावेद के ख़िलाफ़ मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने असंज्ञेय अपराध का मामला दर्ज़ किया है। जावेद अख़्तर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की तुलना आतंकी संगठन तालिबान से करने का आरोप लगाया गया है।

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के अनुसार, मुंबई के एक एडवोकेट संतोष दुबे की शिकायत पर यह एफआईआर सोमवार, 4 अक्टूबर, 2021 को मुंबई के मुलुंड थाने (Mulund Police Station) में दर्ज़ की गयी है। पुलिस स्टेशन के अधिकारी ने बताया कि जावेद के ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता की धारा 500 (मानहानि के लिए सज़ा) के तहत दर्ज़ की गयी है।

सार्वजनिक मंचों (Public Plateforms) या फिर सोशल मीडिया (Social Media) पर बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर काफी सक्रिय रहते हैं। इसके अलावा वो विभिन्न मसलों पर अपनी बयानबाजी को लेकर भी सुर्खियों में रहते हैं।

हालांकि, इस बार उनका बयान उनके लिए मुश्किल का सबब बन गया है। कथित तौर पर आरएसएस की तुलना तालिबान (Taliban) से करने के मामले में मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ यह मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बताया जा रहा है कि पिछले महीने वकील ने जावेद अख़्तर को एक क़ानूनी नोटिस (Legal Notice) भेजा था। नोटिस में एक टीवी इंटरव्यू में कथित तौर पर आरएसएस के ख़िलाफ़ झूठी और मानहानि करने वाली टिप्पणी के लिए माफ़ी मांगने के लिए कहा गया था।

इस नोटिस में दुबे ने दावा किया था कि इस तरह के बयान देकर आईपीसी (IPC) की धाराओं 499 (मानहानि) और 500 (मानहानि के लिए सज़ा) के तहत अपराध किया गया है। एडवोकेट दुबे ने कहा कि मैंने जावेद अख़्तर को लीगल नोटिस भेजा था और उन्हें माफ़ी मांगने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। मेरी शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज़ की गयी है।

बता दें कि उस वक्त जावेद अख्तर के खिलाफ कुछ संगठनों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था। विश्व हिंदू परिषद के दर्जनों कार्यकर्ता उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर कलेक्ट्रेट गेट पर इकट्ठा हुए और एक पुतले पर जावेद अख़्तर के पोस्टर लगाकर उसे आग के हवाले किया। जावेद अख्तर के खिलाफ नारेबाजी के साथ विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने रोड जाम करके जमकर हंगामा भी किया।

वहीं, सोशल मीडिया पर भी जावेद अख्तर को जमकर ट्रोल किया गया था। ​हिंदूवादी संगठन उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए मुकदमा दर्ज करवाना चाहते हैं।

Next Story