शिक्षा

जेएनयू-जामिया को चाहे ​जितना कोसें कट्टरपंथी, NIRF Rankings 2021 में दोनों विश्वविद्यालय टॉप-10 में शामिल

Janjwar Desk
10 Sep 2021 7:38 AM GMT
जेएनयू-जामिया को चाहे ​जितना कोसें कट्टरपंथी, NIRF Rankings 2021 में दोनों विश्वविद्यालय टॉप-10 में शामिल
x

NIRF Rankings 2021 में जामिया और जेएनयू दोनों यूनिवर्सिटी टॉप-10 में शामिल

बदनाम करने की तमाम कोशिशों के बावजूद शिक्षा मंत्रालय की लिस्ट में JNU देश की दूसरी सबसे बेहतरीन यूनिवर्सिटी है। जामिया छठवीं और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी 10वीं सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी...

जनज्वार। राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) 2021 के रैंकिंग में देश के 'शीर्ष 10 विश्वविद्यालयों' में जेएनयू (JNU) ने दूसरा व जामिया (Jamia) ने छठा स्थान हासिल किया है। जामिया ने पिछले साल की अपनी NIRF रैंकिंग में काफी सुधार किया है। पिछले साल जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (JMI) को 9 वा रैंक मिला था। इस घोषणा के बाद एक खास नजरिए से यहां के छात्रों व शिक्षकों पर लगातार वैचारिक हमला करने वाले लोगों पर सवाल उठने लगे हैं।

वरिष्ठ पत्रकार ज्ञानेंद्र पांडेय ट्वीट कर कहते हैं कि साल 2014 में केंद्र में गैर कांग्रेस सरकार के गठन के बाद से ही देश के जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय (JNU), जामिया मिलिया इस्लामिया , जाधवपुर विश्वविद्यालय(JU) और अलीगढ़ विश्व विद्यालय (Aligarh University) जैसे चार श्रेष्ठ उच्च शिक्षण संस्थान नई सरकार और सत्तारूढ़ पार्टी के निशाने पर रहे। इन संस्थानों में पढ़ाई करने वालों को टुकड़े - टुकड़े गैंग (Tukde Tukde gang) का सदस्य कहकर बदनाम और अपमानित करने में भी कोई कसर नहीं छोडी गई।

आश्चर्य इस बात का है कि इसके बाद भी ये सभी संस्थान देश के पांच सर्वश्रेष्ठ संस्थानों का खिताब हासिल करते रहे। इस साल भी केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय ने अभी हाल ही में जारी सूची में इन्हीं संस्थानों को सर्वश्रेष्ठ संस्थानों की सूची में ही दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें : पुलिस ने जामिया के शूटर रामभक्त गोपाल को भड़काऊ भाषण मामले में किया गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में भेजा गया

एबीपी न्यूज़ के अभिनव पाण्डेय ट्वीट कर लिखते हैं कि बदनाम करने की तमाम कोशिशों के बावजूद शिक्षा मंत्रालय की लिस्ट में JNU देश की दूसरी सबसे बेहतरीन यूनिवर्सिटी है। जामिया (Jamia millia islamia university) छठवीं और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी 10वीं सबसे अच्छी।

प्रभाकर कुमार मिश्र कहते हैं,बाकी सब ठीक है मगर JNU, AMU और जामिया के नाम से जिनके शरीर में झुरझुरी उतर जाती है, उनकी सोचिए जरा।हर बार 2-3 पर रहने वाली दिल्ली यूनिवर्सिटी इस बार टॉप 10 से बाहर है। वजह तलाशने की जरूरत है। बाकी अपनी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का इस लिस्ट से कोई वास्ता ही नहीं है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी इन बातों से हमेशा से ऊपर रही है।अरे पूछिए मत। हर बात का जवाब देते हैं। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी ने प्रधानमंत्री दिए हैं।मुकुंद कांत मिश्र व्यंग्य करते हुए लिखते हैं, इसीलिए तो लिस्ट में नाम नहीं है क्यों कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी यूनिक है। अखिल भारतीय विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक महासंघ उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड के जोनल सेक्रेटरी डॉ राजेश चन्द्र मिश्र ने कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ही NIRF रैंकिंग जारी की है। खास बात है कि टॉप 10 में से 8 संस्थान नेहरू के बनाए हुए IITs हैं। जिस नेहरू पर हमला करते ये लोग अघाते नहीं है।

यह भी पढ़ें : CAA विरोधी मार्च में पुलिस ने जामिया की छात्राओं के प्राइवेट पार्ट्स पर किया हमला, डॉक्टरों ने की पुष्टि

एनआईआरएफ राष्ट्रीय रैंकिंग के घोषित नतीजे

विश्वविद्यालयों की रैंकिंग में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरु प्रथम स्थान पर है। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) दूसरे, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय तीसरे, कोलकाता यूनिवर्सिटी चौथे , अमृत विश्वविद्यापीठ कोयंबटूर पांचवे, जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia University) छठे, मनिपाल अकैडमी आफ हायर एजुकेशन मनिपाल सातवें, जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता आठवें, यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद नौवें, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी दसवें स्थान पर है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) के 5 कॉलेजों ने देश के टॉप 10 कॉलेजों में अपनी जगह बनाई है। मिरांडा हाउस को देश का सर्वश्रेष्ठ कॉलेज चुना गया है। दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) के लेडी श्रीराम कॉलेज, सेंट स्टीफन कॉलेज, हिंदू कॉलेज और श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स देशभर के टॉप 10 कॉलेजेस में शामिल हैं।जेएनयू को देशभर में दूसरा सबसे बेहतर विश्वविद्यालय चुना गया है। वहीं जामिया विश्वविद्यालय देश के शीर्ष दस विश्वविद्यालयों में छठा सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय बन गया है। पिछले साल जामिया टॉप 10 विश्वविद्यालयों की सूची में 10वें स्थान पर था।

हिंदू रक्षा दल किसे बचाने के लिए ले रहा है JNU में मचे तांडव की जिम्मेदारी!

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) द्वारा घोषित इंडिया रैंकिंग 2021 के अनुसार, काशी हिंदू विश्वविद्यालय देश के सिर्फ उच्च शैक्षणिक संस्थानों की ओवरऑल रैंकिंग में विश्वविद्यालय को दसवां स्थान मिला है। इस ओवरऑल रैंकिंग के लिए देशभर में 1657 संस्थानों ने हिस्सा लिया था। बीएचयू के आईएमएस भी चिकित्सा क्षेत्र के संस्थान में 7वी रैंक पर है।

विश्वविद्यालय के बेहतर प्रदर्शन (University Ranking) पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए जामिया की कुलपति प्रो नजमा अख्तर ने कहा, यह उपलब्धि और भी महत्वपूर्ण है क्योंकि देश और विश्वविद्यालय दोनों ही कोविड -19 महामारी के कारण चुनौतीपूर्ण समय और रैंकिंग में बढ़ती प्रतिस्पर्धा का सामना कर रहे हैं।

JNU के कुलपति ने कहा- कोरोना से लड़ने के लिए पढ़ाया जाएगा 'रामायण से नेतृत्व का पाठ'

उन्होंने यह भी कहा कि विश्वविद्यालय के समर्पित संकाय सदस्यों द्वारा उच्चतम गुणवत्ता और शिक्षण के प्रासंगिक अनुसंधान के कारण यह उपलब्धि संभव हो पाई है।

कुलपति ने इस उपलब्धि का श्रेय शिक्षण, प्लेसमेंट, अनुसंधान आदि के संबंध में विश्वविद्यालय के बारे में बेहतर धारणा को भी दिया और आने वाले वर्षों में और बेहतर करने की आशा व्यक्त की।

Next Story

विविध

Share it