Top
अंधविश्वास

तांत्रिक के कहने पर लोहरदगा में पिता ने टांगी से काटकर दे दी अपने 3 साल के बेटे की बलि

Janjwar Team
16 Feb 2020 1:18 PM GMT
तांत्रिक के कहने पर लोहरदगा में पिता ने टांगी से काटकर दे दी अपने 3 साल के बेटे की बलि

झारखंड के लोहरदगा जिले में एक बाप ने तांत्रिक के कहने पर टांगी से काटकर सरेआम अपने 3 साल के मासूम बच्चे की ​बलि चढ़ा दी...

जनज्वार। तंत्र-मंत्र, गुनी-ओझा, सोखा, जादू-टोना की गिरफ्त से समाज निकल नहीं पा रहा है, या यूं कहें कि अंधविश्वास को दिनोंदिन बढ़ावा ही मिल रहा है। न सिर्फ अनपढ़ और गरीब बल्कि पढ़े—लिखे और अमीर भी अंधविश्वास के चंगुल में बुरी तरह फंसे हुए हैं। आये दिन ऐसे-ऐसे मामले सामने आते हैं जो सोचने को मजबूर करते हैं कि आखिरकार इस हद तक अंधविश्वास में कोई कैसे फंसा हो सकता है, आखिर कोई बाप किसी ओझा-सोखा के कहने पर अपने मासूम बेटे का कत्ल कैसे कर सकता है।

यह भी पढ़ें — शर्मनाक : मोदी के गुजरात में 68 छात्राओं के कपड़े उतारकर माहवारी दिखाने का मामला आया सामने, पुलिस ने शुरू की जांच

भी 2 दिन भी नहीं बीते हैं गुजरात में घटी उस घटना को, जिसमें एक जाने-माने कॉलेज ने छात्राओं के अंडरवियर तक उतरवा दिये थे, यह चैक करने के लिए कि उनमें से कितनी छात्राओं को माहवारी आयी हुई है। कॉलेज के नियमों के अनुसार रजस्वला छात्राओं के कॉलेज में जाने पर मनाही थी, उन्हें हॉस्टल से अलग-थलग रखा जाता था उस दौरान। अब एक और हैरतनाक मामला झारखंड के लोहरदगा जिले में सामने आया है, जहां एक बाप ने तांत्रिक के कहने पर अपने 3 साल के मासूम बच्चे की ​बलि चढ़ा दी है।

य​ह भी पढ़ें : माहवारी के दौरान नर्क सी पीड़ा झेलती हिमाचली महिलाएं

प्रभात खबर में छपी खबर के ​मुताबिक लोहरदगा जिला के किस्को थाना क्षेत्र की पाखर पंचायत के अंतर्गत छोटामडुआपाठ चुरीन भदरा में एक तीन साल के बच्चे की बलि देने का मामला प्रकाश में आया है। 3 साल के मासूम बच्चे की बलि किसी और ने नहीं बल्कि उसके पिता ने ही दी है, जिसके बाद से वह फरार चल रहा है।

ग्रामीणों के मुताबिक सरस्वती पूजा के दिन यानी पिछले महीने 28 जनवरी को ही 3 साल के मासूम की टांगी से मारकर उसके पिता ने हत्या कर दी थी, जिसके बाद उसकी लाश को घर से कुछ दूरी पर गाड़ दिया। हालांकि अभी पुलिस तक यह मामला नहीं पहुंचा है।

य​ह भी पढ़ें : माहवारी में होने वाले धार्मिक अपराध पर भारत में कब लगेगी रोक

ग्रामीणों का कहना है कि सुबरिंन नगेसिया के बेटे नरेंद्र नगेसिया ने ओझा गुनी के चक्कर में आकर सरस्वती पूजा के दिन अपने तीन साल के बच्चे की बलि चढ़ा दी। बच्चे की हत्या उसने अपने घर के आंगन में टांगी से मारकर की। टांगी से बच्चे को मारते हुए उसे कुछ ग्रामीणों ने भी देखा था, जिसके बाद उसने बच्चे की लाश को घर से 300 मीटर दूर पर गड्ढा खोदकर दफना दिया। बच्चे की हत्या के बाद से ही गांव में दहशत का माहौल व्याप्त रहा। हालांकि बच्चे की बलि देकर नरेंद्र नगेसिया गांव से फरार चल रहा है, मगर ग्रामीण डरे हुए हैं।

यह भी पढ़ें : परम्परा के नाम पर जहां दलित महिलाओं को पोल पर बांधकर बैलगाड़ियों से खींचा, उसका उद्घाटन किया भाजपाई सीएम के सचिव ने

Next Story

विविध

Share it