समाज

Kanpur Case Exclusive : उस रात हैवान हो गया था प्रतीक वैश्य, मृतका की डेथ रिपोर्ट में चोटों के निशान लिखने की भी खत्म हो गई जगह

Janjwar Desk
27 Sep 2021 3:54 PM GMT
kanpur news
x

(आरोपी ने बेहद हैवानियत भरी मौत दी है युवती को)

Kanpur Case Exclusive : प्रतीक वैश्य ने पहले युवती को शारीरिक संबंध बनाने का ऑफर दिया था। साथ में उसने इसकी एवज में युवती को लालच भी दिया कि, अगर वो खुशी से तैयार हो जाती है तो उसे सैलरी से कई गुना ज्यादा पैसे हर माह मिलेंगे...

मनीष दुबे की रिपोर्ट

Kanpur Case Exclusive (जनज्वार) : कानपुर के कल्याणपुर स्थित गुलमोहर अपार्टमेंट (Kanpur Gulmohar Apartment Case) में 19 साल की युवती के साथ हुई बर्बरता किसी सामान्य व्यक्ति को हिलाकर रख देने वाली है। युवती वारदात से 3 दिन पहले डेयरी मालिक के पास नौकरी के लिए आई थी। लेकिन उसे नौकरी के बदले मिली तो मौत। न सिर्फ मौत बल्कि वो दरिंदगी मिली जिसे सुनकर किसी का भी कलेजा कांप जाए।

मंगलवार, 21 सितंबर की शाम उत्तर प्रदेश के कानपुर में कल्याणपुर गुलमोहर अपार्टमेंट की दसवीं मंजिल पर हुई इस घटना ने पूरे देश को झकझोर दिया है। आरोपी डेयरी मालिक प्रतीक वैश्य (Dairy Owner Prateek Vaishya) ने युवती को इसी फ्लैट की दसवी मंजिल के अपने कमरे में मीटिंग के बहाने बुलाया था। फिर नशे में उसके साथ जबरन बर्बरता की। विरोध करने पर लड़की को अपार्टमेंट की बालकनी से नींचे फेंक दिया था। घटना में मृत लड़की की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई है। सामने आई रिपोर्ट में उस रात हुई दरिंदगी भी सामने आई है।

इस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि कल्याणपुर इंदिरा नगर की गुलमोहर अपार्टमेंट के दसवें माले पर बने कमरे में लड़की से कथित बॉस डेयरी मालिक पूरी हैवानियत से पेश आया होगा। शरीर पर आए चोटों के निशान युवती के साथ की गई हैवानियत की गवाही दे रहे थे। यब बात पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलती है। जिसमें निशान तक लिखने के लिए जगह कम पड़ गई। युवती के शरीर पर 25 से अधिक गंभीर चोटों के निशान मिले हैं।

शरीर में इन जगहों पर पाई गई चोटें

मृतका की रिपोर्ट में चोंटो के निशान लिखने की नहीं बची जगह

युवती के शरीर पर कुल 25 से अधिक गंभीर निशान मिले हैं। जिसमें, सिर की हड्‌डी 5 जगह से टूटी, दाहिना हाथ दो जगह से टूटा होने सहित 6 अन्य गंभीर चोटें, बाएं हाथ में तीन जगह गंभीर चोट के निशान, होंठ और छाती के निचले हिस्से में भी चोट के निशान, पेट के नीचे से लेकर जांघ के बीच 4 निशान, दोनों पैरों में कोई फ्रैक्चर नहीं मतलब वो खुद से नहीं कूदी।

यहां डॉक्टरों का कहना है, कि उसे जबरन नींचे फेंका गया इसलिए पैर में फ्रैक्चर नहीं मिले। इसके अलावा, पेशाब की थैली फटी मिली, यूट्रस, वेजाइनल एरिया, गर्भाशय की स्लाइड बनाई गई। प्राइवेट पार्ट में बाहर चोट तो नहीं है, लेकिन अंदर से गर्भाशय (Gulmohar Apartment Rape Case) पूरी तरह से जख्मी पाया गया। मृतका जब अपार्टमेंट के नीचे मिली, तब की रिपोर्ट में लिखा है कि युवती के जींस की चेन खुली हुई थी। जींस का बटन भी टूटा हुआ था और टॉप में काफी खून लगा था। लड़की के आंतरिक कपड़ों से लेकर सभी कपड़े अस्त-व्यस्त हालात में पाए गये थे।

इसके अलावा, जांच रिपोर्ट में लिखा है कि, लड़की के नाखून में आरोपी के शरीर की खाल के अंश मिले हैं। लेकिन जांच में लड़की के नाखूनों को स्टोर क्यों नहीं किया गया, यह पुलिस पर बड़ा सवाल है। आशंका है कि आरोपी जब हैवानियत कर रहा होगा, तब बचाव करते हुए ये चीजें आई होंगी। फॉरेंसिक जांच और सबूत के लिहाज से ये काफी अहम कड़ी थी। जो बड़ी लापरवाही की तरफ इशारा करती है। युवती से हुई दरिंदगी की जांच के लिए 17 अलग-अलग स्लाइडें बनाईं गईं हैं। जिसकी 13 प्वाइंट्स में वैजाइना सहित सीमेन की जांच के लिए भी अलग स्लाइडें बनाईं गईं हैं।

इस मेडिकल रिपोर्ट (Medical Report) से पता चलता है कि फ्लैट के अंदर किस कदर आरोपी ने दरिंदगी को अंजाम दिया होगा। यही वजह है कि पीड़ित मृतका के नाखून में आरोपी के शरीर की खाल मिली। जबकि वो इस तरह की हैवानियत कर थाने में शराब पीकर पुलिसवालों के सामने बेखौफ होकर बैठा था।

क्या थी पूरी घटना?

वह फ्लैट जहां से फेंककर मारा गया और वारदात का स्पॉट

मंगलवार 21 सितंबर को मृतका की बड़ी बहन ने पुलिस को दी गई रिपोर्ट में बताया कि उसकी छोटी बहन पहले कानपुर के काकादेव (Kakadeo Kanpur) में एक ऑप्टिकल्स शॉप पर नौकरी करती थी। जिसके बाद कोरोना लॉकडाउन में उसकी नौकरी छूट गई थी। बहन की नौकरी जाने के बाद घर की आर्थिक स्थिति बरकरार रखने लिए बहन ने मॉडल डेयरी मालिक प्रतीक वैश्य के यहां 8 हजार रूपये महीने पर नौकरी कर ली थी।

मृतका नारामऊ स्थित मॉडल डेयरी के मालिक प्रतीक वैश्य (Model Dairy Owner Prateek Vaishya) से 18 सितंबर को नौकरी के सिलसिले में मिली थी। डेयरी मालिक ने उसे 8 हजार रूपये प्रति माह नौकरी पर रख लिया था। जहां 19 सितंबर से वह नौकरी पर जाने भी लगीथी। मंगलवार 21 सितंबर को उसका तीसरा दिन था। परिवार के लोगों ने बताया कि तकरीबन साढ़े 4 बजे डेयरी मालिक प्रतीक वैश्य युवती को ऑफिस से कल्याणपुर इंदिरा नगर स्थित अपने गुलमोहर रेजीडेंसी अपार्टमेंट ले गया था। हालांकि मृतका की बहन ने यह भी बताया कि इस दौरान उसने अपने बॉस के बुरे बर्ताव का भी जिक्र किया था।

मुझे बचा लो..युवती के आखिरी थे शब्द

वारदात से ठीक पहले युवती ने अपने दोस्त को आखिरी फोन किया था, जिसमें कहा था कि, 'मुझे बचा लो (Save Me), मेरे बॉस प्रतीक वैश्य ने मुझको अपने फ्लैट में कैद कर लिया है। वो मेरे साथ हैवानियत कर रहा है। इस फोन के बाद ही आरोपी प्रतीक वैश्य ने युवती को दसवीं मंजिल की बालकनी से नींचे फेंक दिया था। लेकिन जब तक सभी पहुँचे युवती की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने जब आरोपी को हिरासत में लिया तो वह शराब के नशे में धुत था।

पुलिसिया पूछताछ में आरोपी डेयरी मालिक ने जो बताया वह बेहद चौंकाने वाला था, उसने कहा कि नौकरी पर आने के बाद युवती ने अपनी आर्थिक तंगी के बारे में भी बताया था। उसकी बातें सुनकर उसे लगा कि अगर उसे पैसों का लालच दिया जाए तो वो कुछ भी करने को राजी हो जाएगी। बस यही सोचकर उसने बहाना बनाया और ऑफिस से गुलमोहर अपार्टमोंट के फ्लैट पर ले गया था। फ्लैट पर लाने के बाद युवती को रुकने की कहकर पहले बैठकर शराब पी थी।

पहले दिया सेक्स का ऑफर फिर नीचे फेंक दिया

इसके बाद डेयरी मालिक प्रतीक वैश्य ने पहले युवती को शारीरिक संबंध (Sexual Relation) बनाने का ऑफर दिया था। साथ में उसने इसकी एवज में युवती को लालच भी दिया कि, अगर वो खुशी से तैयार हो जाती है तो उसे सैलरी से कई गुना ज्यादा पैसे हर माह मिलेंगे। लेकिन वो मानने की बजाए उल्टा नाराज हो गई और उसका विरोध शुरू कर दिया। इसी गुस्से में आरोपी ने उसके साथ जबरदस्ती की।

इस दौरान दोनो के बीच काफी देर तक हाथापाई भी होती रही। युवती डेयरी मालिक की हैवानियत का लगातार विरोध कर रही थी। इसके अलावा मौके पर उसने कमरे से बाहर भी भागने की कोशिश की। जिसके चलते आरोपी प्रतीक वैश्य (Prateek Vaishya) ने गेट लॉक कर दिया। तो युवती बालकनी की तरफ भागी। वहां भी कुछ देर तक आरोपी ने उसे समझाने का प्रयास किया। लेकिन जब युवती नहीं मानी तो उसे दरिंदगी के बाद फ्लैट से नीचे फेककर दर्दनाक मौत दे दी।

राजनीतिक दल सहित अधिवक्ता भी मांग रहे इंसाफ

मूल रूप से बिल्हौर के एक गांव की रहने वाली मृतका लड़की के लिए समाजवादी पार्टी की नेता रचना सिंह ने शुरू से ही इंसाफ की मांग की लेकर मोर्चा खोल रखा है। वहीं, दिल्ली गैंगरेप पीड़िता निर्भया की वकील सीमा समृद्धि कुशवाहा ने भी मामले में न्याय की गुहार लगाई है। सीमा मृतका का केस बिना फीस लड़ रही हैं। इसके अलावा सपा के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी सम्राट विकास यादव सहित कांग्रेस प्रदेश सचिव विकास अवस्थी ने भी पदयात्रा निकालकर मृतका को जल्द न्याय दिए जाने की मांग की है।

Next Story

विविध

Share it