राजनीति

फिरोजाबाद में रेप पीड़िता के परिवार ने नहीं लिया केस वापस तो पिता की गोली मारकर हत्या

Prema Negi
12 Feb 2020 7:49 AM GMT
फिरोजाबाद में रेप पीड़िता के परिवार ने नहीं लिया केस वापस तो पिता की गोली मारकर हत्या
x

रेप पीड़िता के पिता की हत्या से पहले अभियुक्तों ने बलात्कार का केस वापस लेने का दबाव डाला था और ऐसा न करने पर हत्या की धमकी दी थी, केस वापस नहीं लेने पर कर दी रेप पीड़िता के पिता की हत्या...

जनज्वार। रेप की घटनाओं में हमारे देश में खासकर उत्तर प्रदेश में जिस तरह बाढ़ आ रही है, उससे ऐसा लगता है कि हमारा देश रेप कैपिटल में तब्दील हो चुका है। दूरदराज के इलाकों में तो छोड़िये, राजधानी दिल्ली के एक प्रतिष्ठित कॉलेज में वार्षिकोत्सव तक में पुलिस और बाउंसरों की मौजूदगी में लड़कियों का यौन उत्पीड़न होता है तो बाकी का क्या कहना। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि लड़की का बलात्कार करने के बाद अगर कोई शिकायत करता है तो शिकायत वापस लेने के लिए न सिर्फ डराया-धमकाया जाता है, बल्कि हत्या तक कर दी जाती है।

संबंधित खबर : उन्नाव में पुलिस अधिकारियों के चक्कर लगाती रही रेप पीड़िता, न्याय नहीं मिला तो पुलिस स्टेशन के बाहर खुद को लगा दी आग

सा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में सामने आया है, जहां बलात्कार पीड़ित लड़की के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। परिजनों का आरोप है कि रेप पीड़िता के पिता की हत्या से पहले अभियुक्तों ने बलात्कार का केस वापस लेने का दबाव डाला था और ऐसा न करने पर हत्या की धमकी दी थी। गौरतलब है कि इस मामले में लड़की के पिता ही केस की पैरवी कर रहे थे।

स मामले में जांच कर रही पुलिस का कहना है कि फ़िरोज़ाबाद जनपद के के थाना उत्तर क्षेत्र के रहने वाले लड़की के पिता की बाइक सवार दो लोगों ने सोमवार 10 फरवरी की देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी। गोली मारने के बाद आरोपी भाग गये और आसपास के लोग उन्हें अस्पताल लेकर गए, जहां इलाज के दौरान अगले दिन 11 फरवरी को उन्होंने दम तोड़ दिया। हमलावर हत्या करने के बाद भाग गये थे और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

संबंधित खबर : उन्नाव के बाद अब फतेहपुर में रेप पीड़िता को जिंदा जलाया, 90 फीसदी झुलसी पीड़िता

रेप पीड़िता के परिजनों का कहना है कि मृतक की बेटी को पिछले साल अगस्त 2019 में बंधक बनाकर बलात्कार किया गया था। इस मामले में शिकोहाबाद के रहने वाले आचमन उपाध्याय के ख़िलाफ़ पीड़िता के परिवार ने शिकोहाबाद थाने में नामज़द रिपोर्ट दर्ज करायी थी, जिस पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

के भाई ने मीडिया से हुई बातचीत में कहा, "बलात्कार आरोपी आचमन उपाध्याय के खिलाफ रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत हम लोगों की तरफ से मुक़दमा दर्ज कराया गया था, मगर पिछले साल अगस्त से लेकर अब तक अभियुक्त को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पायी है। दूसरी तरफ वह लगातार हमारे परिवार को जान से मारने की धमकियां दे रहा था। लगभग 10 दिन पहले ही उसने हमें धमकी दी थी कि रेप का मुक़दमा वापस ले लो, नहीं तो ज़िंदा नहीं बचोगे। हमने इसकी शिकायत पुलिस में की थी, मगर उसे अनसुना कर दिया गया। इसी का परिणाम है कि आज मेरा भाई हमारे बीच नहीं है।'

संबंधित खबर : कानपुर के नौबस्ता में लड़की से छेड़खानी, विरोध करने पर परिजनों को पीटकर उन्नाव और हैदराबाद कांड दोहराने की दी धमकी

हीं इस मामले में फ़िरोज़ाबाद के पुलिस अधीक्षक सचींद्र पटेल कहते हैं कि "अभियुक्त फ़रार है और उसके ख़िलाफ़ कुर्की की कार्रवाई भी हो चुकी है, इनाम भी घोषित किया गया है। उसे पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है।"

हत्याकांड से सवाल यह भी उठता है कि क्या पुलिस किसी की हत्या का इंतजार कर रही थी, नहीं तो ऐसा क्यों होता कि शिकायत के बावजूद आरोपी खुला घूम रहा था और न सिर्फ खुला घूम रहा था, बल्कि सरेआम रेप पीड़िता के पिता की हत्या भी कर देता है।

संबंधित खबर : उन्नाव में युवक की मौत के बाद प्रदर्शन कर रहे गांववालों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, मृतक की पत्नी को भी लाठियों से पीटा

Next Story

विविध

Share it