Top
राष्ट्रीय

WHO के अधिकारी की चेतावनी- लॉकडाउन हटते ही भारत में बढ़ेंगे कोरोना के मामले, जुलाई के आखिरी में स्थितियां होंगी भयावह

Manish Kumar
9 May 2020 9:44 AM GMT
WHO के अधिकारी की चेतावनी- लॉकडाउन हटते ही भारत में बढ़ेंगे कोरोना के मामले, जुलाई के आखिरी में स्थितियां होंगी भयावह
x
प्रतीकात्मक फोटो

WHO के एक अधिकारी ने हालांकि कहा कि भारत में कोरोना के मामलों की संख्या देश की जनसंख्या के हिसाब से अब भी कम है...

नई दिल्लीः WHO के एक अधिकारी ने कहा है कि भारत में लॉकडाउन हटने के बाद कोरोना के मामले बढ़ेंगे और जुलाई में यह बीमारी अपने चरम पर होगी. हालंकि अधिकारी ने कहा कि भारत में कोरोना के मामलों की संख्या देश की जनसंख्या के हिसाब से अब भी काफी कम है.

एनडीटीवी से बातचीत में विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारी डॉ. डेविड नाबारो ने कहा कि भारत ने समय रहते कोरोना को कंट्रोल करने के लिए जरूरी कदम उठा लिए थे. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की वजह से भारत में कोविड-19 का संक्रमण बहुत ज्यादा नहीं फैल पाया.

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस से भाजपा नेता की मौत, 15 दिन पहले पिता की भी संक्रमण से हुई थी मौत

डॉ. नाबारो ने कहा कि घनी आबादी वाले देशों में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकना बहुत मुश्किल होता है लेकिन भारत में अब भी जनसंख्या के हिसाब कोरोना के मामले कम हैं.

कहा कि लॉकडाउन हटने के बाद कोरोना के मामलों की संख्या तो बढ़ेगी लेकिन उसपर नियंत्रण पा लिया जाएगां. हालांकि उन्होंने कहा कि जुलाई में यह बीमारी सबसे ज्यादा फैलेगी लेकिन उसेक बाद हालात बदल जाएंगे.

बता दें इससे पहले एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने यह कहा था कि भारत में मई में कोरना के मामले बढ़ रहे हैं और जून के महीने में यह चरम पर होंगे.

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि ‘हमें वायरस के साथ जीना सीखना होगा’ और ‘यह एक कठिन लड़ाई है, हमें सभी के सहयोग की आवश्यकता है।’स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने शुक्रवार शाम को मीडिया से कहा, “हमें वायरस के साथ जीना सीखना होगा। हमें इन (सामाजिक दूरी) नियमों को लागू करने के लिए कुछ व्यवहार परिवर्तन लाने की आवश्यकता है।”

पिछले कुछ दिनों में कोरोना मामलों में अचानक उछाल आने और प्रतिदिन 3,000 मामले पार करने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से यह प्रतिक्रिया आई है। बता दें देश में शुक्रवार को कोरोनोवायरस मामलों की संख्या बढ़कर 56,342 हो गई।

Next Story

विविध

Share it